• वो मुड़ मुड़ के देख रहे थे हमें,
    हम मुड़ मुड़ के देख रहे थे उन्हें,
    वो हमें, हम उन्हें,
    हम उन्हें, वो हमें,
    क्योंकि परीक्षा में...
    न उन्हें कुछ आता था, न हमें।
  • बोर्ड परीक्षा के छात्र बढियां अंक लाने के लिए दो काम कर सकते हैं:<br />
1. दही-चीनी खाकर घर से निकलें<br />
2. या 'Lux Cozi' अपना लक, पहन के चलेंUpload to Facebook
    बोर्ड परीक्षा के छात्र बढियां अंक लाने के लिए दो काम कर सकते हैं:
    1. दही-चीनी खाकर घर से निकलें
    2. या 'Lux Cozi' अपना लक, पहन के चलें
  • परीक्षा में बैठे दुखी छात्र की शायरी:<br />
प्यासी निगाहों से जलता रहा मेरी चाहत का दिया;<br />
कुछ तो बता दे मेरे यार, मैंने अभी शुरू भी नहीं किया।Upload to Facebook
    परीक्षा में बैठे दुखी छात्र की शायरी:
    प्यासी निगाहों से जलता रहा मेरी चाहत का दिया;
    कुछ तो बता दे मेरे यार, मैंने अभी शुरू भी नहीं किया।
  • समंदर जितना सिलेबस है;<br/>
नदी जितना पढ़ पाते हैं;<br/>
बाल्टी जितना याद होता है;<br/>
गिलास भर लिख पाते हैं;<br/>
चुल्लू भर नंबर आते हैं;<br/>
उसी में डूब कर मर जाते हैं।Upload to Facebook
    समंदर जितना सिलेबस है;
    नदी जितना पढ़ पाते हैं;
    बाल्टी जितना याद होता है;
    गिलास भर लिख पाते हैं;
    चुल्लू भर नंबर आते हैं;
    उसी में डूब कर मर जाते हैं।
  • सबसे ज्यादा नशा किस में होता है?
    शराब - नहीं
    प्यार - नहीं
    पैसा - नहीं
    सबसे ज्यादा नशा होता है "किताब" में,
    खोलते ही नींद आ जाती है।
  • वो मुड़-मुड़ के देख रहे थे हमें;
    हम मुड़-मुड़ के देख रहे थे उन्हें;
    वो हमें, हम उन्हें, हम उन्हें, वो हमें;
    क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था, न हमें!
  • अगर कोई लड़का परीक्षा में फेल हो जाये तो माँ तीन शब्द कहती है, "और जा घूमने"।
    गर्लफ्रेंड भी तीन शब्द कहती है, "शर्म नहीं आती"।
    और दोस्त भी तीन शब्द ही कहते हैं लेकिन दिल जीत लेते हैं,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "अबे तू भी"।
  • अगर आप स्कूल की मीठी यादों में खोये हैं;
    कॉलेज की हसीन यादों को संजोये हैं;
    क्लास में दोस्तों के साथ की मस्ती को यादों में परोये हो;
    तो...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मार्क-शीट निकाल कर देखो, सारा नशा उतर जायेगा।
  • एक विद्यार्थी की दर्द भरी शायरी:<br/>
स्टूडेंट्स के दर्द को यह स्कूल वाले क्या जाने;<br/>
क्लास के रिवाज़ों से सब माँ-बाप हैं अनजाने;<br/>
होती है कितनी तकलीफ एक पेपर लिखने में;<br/>
ये दर्द वो पेपर चेक करने वाला क्या जाने।Upload to Facebook
    एक विद्यार्थी की दर्द भरी शायरी:
    स्टूडेंट्स के दर्द को यह स्कूल वाले क्या जाने;
    क्लास के रिवाज़ों से सब माँ-बाप हैं अनजाने;
    होती है कितनी तकलीफ एक पेपर लिखने में;
    ये दर्द वो पेपर चेक करने वाला क्या जाने।
  • रात को किताब मेरी मुझे देखती रही;
    नींद मुझे अपनी तरफ घसीटती रही;
    नींद का झोंका मेरा मन मोह गया;
    और एक रात फिर ये GENIUS बिना पढ़े सो गया।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT