• लिखो तो एग्जाम में कुछ ऐसा लिखो;<br />
कि पेन भी रोने पर मजबूर हो जाये;<br />
हर उत्तर में वो दर्द भर दो;<br />
कि चेक करने वाला 'डिस्प्रिन' खा के सो जाये।
    लिखो तो एग्जाम में कुछ ऐसा लिखो;
    कि पेन भी रोने पर मजबूर हो जाये;
    हर उत्तर में वो दर्द भर दो;
    कि चेक करने वाला 'डिस्प्रिन' खा के सो जाये।
  • जोर का झटका हाय जोरों से लगा;<br />
पढ़ाई बन गई उम्र कैद की सजा;<br />
ये है उदासी जान की प्यासी;<br />
एग्जाम से अच्छा तुम दे दो फांसी।
    जोर का झटका हाय जोरों से लगा;
    पढ़ाई बन गई उम्र कैद की सजा;
    ये है उदासी जान की प्यासी;
    एग्जाम से अच्छा तुम दे दो फांसी।
  • माँ ने अपने बच्चे से पूछा, "तुम सारा साल क्यों नहीं पढ़ते, सिर्फ इम्तिहानों के दिनों में ही क्यों पढ़ते हो?"
    बच्चा: माँ, लहरों का सकून तो सभी को पसंद है। लेकिन तूफानों में कश्ती निकालने का मज़ा ही कुछ और है।
  • अगर प्रशन पेपर मुश्किल लगे, या समझ में ना आये तो एक गहरी सांस लो और जोर से चिल्लाओ,
    "कमीनों, फेल ही करना है तो
    .
    . .
    . . .
    इम्तेहान क्यों लेते हो?"
  • कह दो पढ़ने वालों से कभी हम भी पढ़ा करते थे;
    जितने पाठ पढ़कर वो टॉप किया करते हैं;
    उतने पाठ तो हम छोड़ दिया करते थे।
  • ले गए आप इस स्कूल को उस मुकाम पर,<br />
गर्व से उठते है हमारे सर,<br />
हम रहे न रहे अब कल,<br />
याद आयेंगे आप के साथ बिताये हुए पल,<br />
टीचर... आपकी ज़रूरत रहेगी हमें हर पल!
    ले गए आप इस स्कूल को उस मुकाम पर,
    गर्व से उठते है हमारे सर,
    हम रहे न रहे अब कल,
    याद आयेंगे आप के साथ बिताये हुए पल,
    टीचर... आपकी ज़रूरत रहेगी हमें हर पल!
  • गल्तियाँ करो - खूब करो;
    सौ बार नहीं, हज़ार बार करो!
    बस इतना ध्यान रखो, कि एक गलती दोबारा मत करो;
    वो है, 'स्कूल' जाने की!