• बीवी अगर मायके गई हो तो, बन्दा बर्तन तब तक नहीं धोता जब तक,<br/>
चाय कढ़ाई में बनाने की नौबत ना आ जाए!
    बीवी अगर मायके गई हो तो, बन्दा बर्तन तब तक नहीं धोता जब तक,
    चाय कढ़ाई में बनाने की नौबत ना आ जाए!
  • मेरी DP ना देख पगली प्यार हो जायेगा!<br/>
ऐसा स्टेटस रखने वाले लड़कों की शक्ल ऐसी होती है कि...<br/>
अगर कोई सुबह देख ले तो पूरा हफ्ता दहशत में गुज़रता है!
    मेरी DP ना देख पगली प्यार हो जायेगा!
    ऐसा स्टेटस रखने वाले लड़कों की शक्ल ऐसी होती है कि...
    अगर कोई सुबह देख ले तो पूरा हफ्ता दहशत में गुज़रता है!
  • नवंबर का महीना तो इसी दुविधा में गुज़र जाता है कि...<br/>
कोई दूसरा स्वेटर-जर्सी पहने तो हम भी पहनें
    नवंबर का महीना तो इसी दुविधा में गुज़र जाता है कि...
    कोई दूसरा स्वेटर-जर्सी पहने तो हम भी पहनें
  • जब से मोदी जी ने खेतों में शौच को बंद करा दिया है,<br/>
आलू का स्वाद बदला-बदला सा हो गया है।<br/>
~ एक कांग्रेसी का बयान
    जब से मोदी जी ने खेतों में शौच को बंद करा दिया है,
    आलू का स्वाद बदला-बदला सा हो गया है।
    ~ एक कांग्रेसी का बयान
  • एक पति का बयान:<br/>
ना मैं चुनाव लड़ रहा हूँ, ना मेरी घरवाली।<br/>
हम दोनों आपस में ही लड़ के खुश हैं।
    एक पति का बयान:
    ना मैं चुनाव लड़ रहा हूँ, ना मेरी घरवाली।
    हम दोनों आपस में ही लड़ के खुश हैं।
  • क्यों पैसे फूंकते ही सिगरेट, बीड़ी, सिगार में...<br/>
कुछ दिन तो गुज़ारो दिल्ली-एनसीआर में।
    क्यों पैसे फूंकते ही सिगरेट, बीड़ी, सिगार में...
    कुछ दिन तो गुज़ारो दिल्ली-एनसीआर में।
  • स्कूल बंद, कंस्ट्रक्शन बंद, जेनरेटर बंद।<br/>
दिल्ली में प्रदूषण घटाने के लिए अब बस मूली के परांठे बंद करना बाकी हैं।
    स्कूल बंद, कंस्ट्रक्शन बंद, जेनरेटर बंद।
    दिल्ली में प्रदूषण घटाने के लिए अब बस मूली के परांठे बंद करना बाकी हैं।
  • मुस्कुराइये आप लखनऊ में हैं।<br/>
खाँसिये आप दिल्ली में हैं।
    मुस्कुराइये आप लखनऊ में हैं।
    खाँसिये आप दिल्ली में हैं।
  • दिल्ली में धुंध ऐसी पड़ रही है जैसे Undertaker आने वाला हो।
    दिल्ली में धुंध ऐसी पड़ रही है जैसे Undertaker आने वाला हो।
  • शराब तो हमेशा से ही हमारे जीवन का, हमारी संस्कृति का ज़रूरी हिस्सा रही है।<br/>
देखें, घर - बार, खाना - पीना, दवा - दारू।
    शराब तो हमेशा से ही हमारे जीवन का, हमारी संस्कृति का ज़रूरी हिस्सा रही है।
    देखें, घर - बार, खाना - पीना, दवा - दारू।