• पठान: मैंने आपकी दूकान से मुर्गी दाना खरीदा था।<br/>
दूकानदार: तो क्या हुआ, कुछ खराबी है क्या?<br/>
पठान: हाँ, एक महीना हो गया उसे खेत में बोये हुए, अभी तक मुर्गी नहीं उगी।
    पठान: मैंने आपकी दूकान से मुर्गी दाना खरीदा था।
    दूकानदार: तो क्या हुआ, कुछ खराबी है क्या?
    पठान: हाँ, एक महीना हो गया उसे खेत में बोये हुए, अभी तक मुर्गी नहीं उगी।
  • टीचर: एक बाइक पे कितने आदमी बैठ सकते हैं?<br/>
पप्पू: 13 आदमी।<br/>
टीचर: वो कैसे?<br/>
पप्पू:  1 चालक और 2 छक्के!
    टीचर: एक बाइक पे कितने आदमी बैठ सकते हैं?
    पप्पू: 13 आदमी।
    टीचर: वो कैसे?
    पप्पू: 1 चालक और 2 छक्के!
  • बंता: अरे भाई क्या हुआ? इतने मायूस क्यों हो?<br/>
संता: क्या बताऊँ मैं तो बरबाद हो गया।<br/>
बंता: क्यों क्या हुआ?<br/>
संता: मेरे दादे को पुनर्जन्म में विश्वास था, कमबख्त अपनी जायदाद अपने ही नाम कर गये।
    बंता: अरे भाई क्या हुआ? इतने मायूस क्यों हो?
    संता: क्या बताऊँ मैं तो बरबाद हो गया।
    बंता: क्यों क्या हुआ?
    संता: मेरे दादे को पुनर्जन्म में विश्वास था, कमबख्त अपनी जायदाद अपने ही नाम कर गये।
  • बंता: यार संता, अगर हम मरने के बाद नरक में गए तो क्या करेंगे?<br/>
संता: क्या करेंगे मतलब?<br/>
बंता: मतलब हमें तो नरक के बारे में कुछ पता ही नहीं है।<br/>
संता: ओये यह जो शादी होती है न यह आदमी को नरक का अनुभव दिलाने के लिए ही होती है।
    बंता: यार संता, अगर हम मरने के बाद नरक में गए तो क्या करेंगे?
    संता: क्या करेंगे मतलब?
    बंता: मतलब हमें तो नरक के बारे में कुछ पता ही नहीं है।
    संता: ओये यह जो शादी होती है न यह आदमी को नरक का अनुभव दिलाने के लिए ही होती है।
  • पठान: मैंने कल एक सपना देखा।<br/>
सिंधी: अच्छा क्या देखा सपने में?<br/>
पठान: यार कुछ दिखाई ही नहीं दिया।<br/>
सिंधी: क्यों?<br/>
पठान: वो मेरी आँखें बंद थी न, इसलिए।
    पठान: मैंने कल एक सपना देखा।
    सिंधी: अच्छा क्या देखा सपने में?
    पठान: यार कुछ दिखाई ही नहीं दिया।
    सिंधी: क्यों?
    पठान: वो मेरी आँखें बंद थी न, इसलिए।
  • बंता: यार संता, बीवी और बादलों में क्या समानता है?<br/>
संता: यार जब दोनों आस-पास नहीं होते, दिन बहुत सुहावना होता है।
    बंता: यार संता, बीवी और बादलों में क्या समानता है?
    संता: यार जब दोनों आस-पास नहीं होते, दिन बहुत सुहावना होता है।
  • बंटी: यार क्या कोई कार्ड देखकर भी भविष्यवाणी कर सकता है?<br/>
पप्पू: हाँ, बिल्कुल कर सकता है।<br/>
बंटी: कौन?<br/>
पप्पू: मेरी माँ, वो मेरा रिपोर्ट कार्ड देखते ही बता देती हैं कि पापा के आते ही मेरी क्या हालत होने वाली है।
    बंटी: यार क्या कोई कार्ड देखकर भी भविष्यवाणी कर सकता है?
    पप्पू: हाँ, बिल्कुल कर सकता है।
    बंटी: कौन?
    पप्पू: मेरी माँ, वो मेरा रिपोर्ट कार्ड देखते ही बता देती हैं कि पापा के आते ही मेरी क्या हालत होने वाली है।
  • जीतो: अरे आप, इतनी तेज बाइक मत चलाओ मुझे डर लग रहा है।
    संता: अरे, अगर तुझे भी डर लग रहा है तो तू भी मेरी तरह आँखे बंद कर ले।
  • टीचर: `रामस्वरूप बीमार हुआ फलस्वररूप मर गया।` सब लोग इसका अंग्रेजी में अनुवाद करो।<br/>
पप्पू: टीचर, अगर 'रामस्वरूप' बीमार था तो 'फलस्वरूप' क्यों मरा?<br/>
टीचर: मूर्ख इसका मतलब है 'रामस्वरूप' बीमार हुआ 'परिणामस्वरुप' मर गया।<br/>
पप्पू: लो अब कोई तीसरा मर गया।
    टीचर: "रामस्वरूप बीमार हुआ फलस्वररूप मर गया।" सब लोग इसका अंग्रेजी में अनुवाद करो।
    पप्पू: टीचर, अगर 'रामस्वरूप' बीमार था तो 'फलस्वरूप' क्यों मरा?
    टीचर: मूर्ख इसका मतलब है 'रामस्वरूप' बीमार हुआ 'परिणामस्वरुप' मर गया।
    पप्पू: लो अब कोई तीसरा मर गया।
  • पठान और सिंधी आपस में बातें कर रहे थे।<br/>
सिंधी: चल अपने बचपन की कोई बात बता?<br/>
पठान: यार, बचपन में... मैं बहुत ताक़तवर था।<br/>
सिंधी: अच्छा... वो कैसे?<br/>
पठान: अम्मी कहती है बचपन में जब मैं रोता था तो सारा घर सिर पर उठा लेता था।
    पठान और सिंधी आपस में बातें कर रहे थे।
    सिंधी: चल अपने बचपन की कोई बात बता?
    पठान: यार, बचपन में... मैं बहुत ताक़तवर था।
    सिंधी: अच्छा... वो कैसे?
    पठान: अम्मी कहती है बचपन में जब मैं रोता था तो सारा घर सिर पर उठा लेता था।