• कभी हमारी दोस्ती पर शक हो तो अकेले में एक सिक्का उछालना। अगर हेड आया तो हम दोस्त और अगर टेल आया तो...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
पलट देना यार अकेले में कौन देखता है।
    कभी हमारी दोस्ती पर शक हो तो अकेले में एक सिक्का उछालना। अगर हेड आया तो हम दोस्त और अगर टेल आया तो...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पलट देना यार अकेले में कौन देखता है।
  • दोस्त ज़िन्दगी में ख़ुशी लाने वाले होने चाहिए।<br/>
दुःख देने के लिए तो पूरी दुनिया ही तैयार बैठी है।
    दोस्त ज़िन्दगी में ख़ुशी लाने वाले होने चाहिए।
    दुःख देने के लिए तो पूरी दुनिया ही तैयार बैठी है।
  • जो फेसबुक ने अधिकतम 5000 फ्रेंडस की सीमारेखा ना बनाई होती...<br/>
तो कई फेसबुकिये आज अपनी प्रोफाइल को एक स्वतन्त्र राष्ट्र घोषित कर देते।
    जो फेसबुक ने अधिकतम 5000 फ्रेंडस की सीमारेखा ना बनाई होती...
    तो कई फेसबुकिये आज अपनी प्रोफाइल को एक स्वतन्त्र राष्ट्र घोषित कर देते।
  • ये तो अच्छा हुअा कि 1947 में WhatsApp और FB नहीं था, वरना कोई भी जंग ए अाज़ादी के लिए मैदान में नहीं उतरता और घर बैठे WhatsApp और FB पर ही लिखा करता कि...<br/>
इसको इतना शेयर करो कि अंग्रेज हिंदुस्तान छोड़ कर भाग जाए।
    ये तो अच्छा हुअा कि 1947 में WhatsApp और FB नहीं था, वरना कोई भी जंग ए अाज़ादी के लिए मैदान में नहीं उतरता और घर बैठे WhatsApp और FB पर ही लिखा करता कि...
    इसको इतना शेयर करो कि अंग्रेज हिंदुस्तान छोड़ कर भाग जाए।
  • फेसबुक वह जगह है,<br/>
जहाँ चूहे को देखकर हवा टाइट हो जाने वाले भी अपनी हॉबीज मेंAdventure Sports लिखते हैं।
    फेसबुक वह जगह है,
    जहाँ चूहे को देखकर हवा टाइट हो जाने वाले भी अपनी हॉबीज मेंAdventure Sports लिखते हैं।
  • रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते;
    रिश्ते एक बार बनते हैं और फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।
  • माँ-बाप कितनी मन्नतें की, दर दर की ठोकरें खायी कि एक बेटा हो जाये और...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    वो हरामखोर Facebook पे 'Angel Priya' बना बैठा है।
  • जीत की आदत अच्छी होती है लेकिन कुछ रिश्तों में हार जाना बेहतर होता है।
  • किसी को पलकों में ना बसाओ;<br/>
क्योंकि पलकों में सिर्फ सपने बसते हैं;<br/>
अगर बसाना है तो दिल में बसाओ;<br/>
क्योंकि दिल में सिर्फ अपने बसते हैं।
    किसी को पलकों में ना बसाओ;
    क्योंकि पलकों में सिर्फ सपने बसते हैं;
    अगर बसाना है तो दिल में बसाओ;
    क्योंकि दिल में सिर्फ अपने बसते हैं।
  • हमारी सल्तनत में देख कर कदम रखना ऐ दोस्त;<br/>
क्योंकि हमारी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।
    हमारी सल्तनत में देख कर कदम रखना ऐ दोस्त;
    क्योंकि हमारी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT