• लोग कहते हैं कि इतनी दोस्ती मत करो कि दोस्ती दिल पर सवार हो जाए,<br/>
हम कहते हैं कि दोस्ती इतनी करो कि दुश्मन को भी तुमसे प्यार हो जाए।
    लोग कहते हैं कि इतनी दोस्ती मत करो कि दोस्ती दिल पर सवार हो जाए,
    हम कहते हैं कि दोस्ती इतनी करो कि दुश्मन को भी तुमसे प्यार हो जाए।
  • रिश्तों की सिलाई:<br/>
अगर भावनाओं से हुई है, तो टूटना मुश्किल है;<br/>
और अगर स्वार्थ से हुई है, तो टिकना मुश्किल है।
    रिश्तों की सिलाई:
    अगर भावनाओं से हुई है, तो टूटना मुश्किल है;
    और अगर स्वार्थ से हुई है, तो टिकना मुश्किल है।
  • आज हम साथ नहीं लेकिन तारीख में तो 7/7 हैं।
    आज हम साथ नहीं लेकिन तारीख में तो 7/7 हैं।
  • अंकल: बेटा क्या करते हो?<br/>
लड़का: नारी सम्मान सेवा।<br/>
अंकल: सोशल वर्कर हो?<br/>
लड़का: नहीं अंकल फेसबुक पर सब लड़कियों की फोटो लाइक करता हूँ।
    अंकल: बेटा क्या करते हो?
    लड़का: नारी सम्मान सेवा।
    अंकल: सोशल वर्कर हो?
    लड़का: नहीं अंकल फेसबुक पर सब लड़कियों की फोटो लाइक करता हूँ।
  • दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है जहाँ एक हलकी सी मुस्कुराहट और छोटी सी माफ़ी से जिंदगी पहले जैसी हो जाती है।
    दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है जहाँ एक हलकी सी मुस्कुराहट और छोटी सी माफ़ी से जिंदगी पहले जैसी हो जाती है।
  • प्यार में दुनिया खूबसूरत लगती है;
    दर्द में दुनिया दुश्मन लगती है.
    तुम जैसे दोस्त अगर हों ज़िन्दगी में तो;
    'Bisleri' भी 'Kingfisher' लगती है।
  • यादों की कीमत वो क्या जाने,<br />
जो ख़ुद यादों के मिटा दिया करते हैं,<br />
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,<br />
सिर्फ यादों के सहारे ही जिया करते हैं।
    यादों की कीमत वो क्या जाने,
    जो ख़ुद यादों के मिटा दिया करते हैं,
    यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
    सिर्फ यादों के सहारे ही जिया करते हैं।
  • ऐसा नहीं कि मुझमें कोई ऐब नहीं है पर सच कहता हूँ मुझमें कोई फरेब नहीं है,<br />
जल जाते हैं मेरे अंदाज़ में मेरे दुश्मन,<br />
क्योंकि एक मुद्दत से मैंने न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले!
    ऐसा नहीं कि मुझमें कोई ऐब नहीं है पर सच कहता हूँ मुझमें कोई फरेब नहीं है,
    जल जाते हैं मेरे अंदाज़ में मेरे दुश्मन,
    क्योंकि एक मुद्दत से मैंने न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले!
  • क्या फर्क है दोस्ती और मोहब्बत में रहते तो दोनो दिल मे ही हैं,<br>
लेकिन फर्क बस इतना है बरसो बाद मिलने पर मोहब्बत नजर चुरा लेती है और दोस्त सीने से लगा लेते हैं।
    क्या फर्क है दोस्ती और मोहब्बत में रहते तो दोनो दिल मे ही हैं,
    लेकिन फर्क बस इतना है बरसो बाद मिलने पर मोहब्बत नजर चुरा लेती है और दोस्त सीने से लगा लेते हैं।
  • रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,<br />
रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।
    रिश्ते कभी जिंदगी के साथ साथ नहीं चलते,
    रिश्ते एक बार बनते हैं, फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT