• वो देता है दर्द बस हमी को;<br/>
क्या समझेगा वो इन आँखों की नमी को;<br/>
लाखों दीवाने हों जिस के;<br/>
वो क्या महसूस करेगा एक हमारी कमी को।
    वो देता है दर्द बस हमी को;
    क्या समझेगा वो इन आँखों की नमी को;
    लाखों दीवाने हों जिस के;
    वो क्या महसूस करेगा एक हमारी कमी को।
  • ज़ख्म मोहब्बत में हमने खाए हैं;
    चिराग उनकी राहों में जलाए हैं;
    हर होंठ पर हैं वो गीत मेरे;
    जो उनकी याद में हमने गाए हैं।
  • रिश्ते चाहे कितने भी बुरे हों, लेकिन कभी भी उन्हें मत तोड़ना;
    क्योंकि पानी चाहे कितना भी गंदा हो, प्यास नहीं तो आग तो बुझा ही देता है।
  • बूँदें बारिश की यूँ ज़मीन पर आने लगी;<br/>
सोंदी सी महक माटी की जगाने लगी;<br/>
हवाओं में भी जैसे मस्ती छाने लगी;<br/>
वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी।
    बूँदें बारिश की यूँ ज़मीन पर आने लगी;
    सोंदी सी महक माटी की जगाने लगी;
    हवाओं में भी जैसे मस्ती छाने लगी;
    वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी।
  • आना हमारा किसी को गवारा ना हुआ;<br/>
हर मुसाफिर ज़िंदगी का सहारा ना हुआ;<br/>
मिलते हैं बहुत लोग इस तन्हा ज़िंदगी में;<br/>
पर हर दोस्त आप सा प्यारा ना हुआ।
    आना हमारा किसी को गवारा ना हुआ;
    हर मुसाफिर ज़िंदगी का सहारा ना हुआ;
    मिलते हैं बहुत लोग इस तन्हा ज़िंदगी में;
    पर हर दोस्त आप सा प्यारा ना हुआ।
  • दोस्तो् के साथ जीने का एक मौका दे दे, ऐ खुदा;<br/>
तेरे साथ तो हम मरने के बाद भी रह लेंगे।
    दोस्तो् के साथ जीने का एक मौका दे दे, ऐ खुदा;
    तेरे साथ तो हम मरने के बाद भी रह लेंगे।
  • दिल ने तेरे प्यार में मजबूर कर दिया;
    इस जहां की हर ख़ुशी से हमें दूर कर दिया;
    जिस कदर चाहा था तेरे पास आने को;
    उस कदर दुनिया ने मुझे तुझसे दूर कर दिया।
  • जगाया उन्होंने ऐसा के अब तक सो न सके;
    रुलाया उन्होंने ने फिर भी हम रो न सके;
    न जाने क्या बात थी उन में;
    जो अब तक हम किसी के भी न हो सके।
  • ना वो आ सके, ना हम जा सके;<br/>
दर्द दिल का किसी को ना सुना सके;<br/>
यादों को लेकर बैठें हैं आस में उनकी;<br/>
ना उन्होंने याद किया, ना हम उन्हें भुला सके।
    ना वो आ सके, ना हम जा सके;
    दर्द दिल का किसी को ना सुना सके;
    यादों को लेकर बैठें हैं आस में उनकी;
    ना उन्होंने याद किया, ना हम उन्हें भुला सके।
  • सच्ची है मेरी मोहब्बत, आज़मा के देख लो;
    करके यकीन मुझ पे मेरे पास आ कर देख लो;
    बदलता नहीं सोना कभी अपना रंग;
    जितनी बार दिल करे आग लगा के देख लो।