• कलंक देखने गया,<br/>
सोचा कि धोखा किस के साथ होगा - आदित्य रॉय कपूर या धवन,<br/>
फिल्म ख़त्म होने पर समझ आया कि धोखा तो जनता के साथ हुआ!
    कलंक देखने गया,
    सोचा कि धोखा किस के साथ होगा - आदित्य रॉय कपूर या धवन,
    फिल्म ख़त्म होने पर समझ आया कि धोखा तो जनता के साथ हुआ!
  • हवाई जहाज़ में सफर करने का सिर्फ एक ही फायदा है...<br/>
विंडो सीट पर बैठने के बाद भी किसी को स्टेशन नहीं बताने पड़ते!
    हवाई जहाज़ में सफर करने का सिर्फ एक ही फायदा है...
    विंडो सीट पर बैठने के बाद भी किसी को स्टेशन नहीं बताने पड़ते!
  • कांग्रेस - सपा निकट नाहिं आवै<br/>
नरेंद्र मोदी जब नाम सुनावे<br/>
नासै महागठबंधन हारै सब पीरा<br/>
जपत निरंतर मोदी - मोदी बीरा!<br/>
हैप्पी चुनाव महोत्स्व!
    कांग्रेस - सपा निकट नाहिं आवै
    नरेंद्र मोदी जब नाम सुनावे
    नासै महागठबंधन हारै सब पीरा
    जपत निरंतर मोदी - मोदी बीरा!
    हैप्पी चुनाव महोत्स्व!
  • एक बात मुझे आज तक समझ नहीं आयी कि<br/>
ये प्रेम, प्यार, इश्क़, मोहब्बत के एक एक अक्षर विकलांग क्यों है!
    एक बात मुझे आज तक समझ नहीं आयी कि
    ये प्रेम, प्यार, इश्क़, मोहब्बत के एक एक अक्षर विकलांग क्यों है!
  • जो लोग बोलते हैं बस दया है आपकी<br/>
उनकी जानकारी के लिए बता दूँ कि दया हमारी नहीं जेठालाल की है... वो मारेगा तुम्हें!
    जो लोग बोलते हैं बस दया है आपकी
    उनकी जानकारी के लिए बता दूँ कि दया हमारी नहीं जेठालाल की है... वो मारेगा तुम्हें!
  • मीत ना मिला रे मन का एक ऐसा गाना है, जो लाख फेवरिट होने पर भी घर में नहीं गा सकते!
    मीत ना मिला रे मन का एक ऐसा गाना है, जो लाख फेवरिट होने पर भी घर में नहीं गा सकते!
  • जो कहती थी तुम्हारे अलावा मेरे दिल में किसी के लिए जगह नहीं...<br/>
आज उसी के दिल में कुम्भ का मेला लगा हुआ है!
    जो कहती थी तुम्हारे अलावा मेरे दिल में किसी के लिए जगह नहीं...
    आज उसी के दिल में कुम्भ का मेला लगा हुआ है!
  • समय को एक ही चीज़ मात दे सकती है!<br/>
वो है लैक्मे आईकोनिक काजल!<br/>
टीवी से प्राप्त ज्ञान!
    समय को एक ही चीज़ मात दे सकती है!
    वो है लैक्मे आईकोनिक काजल!
    टीवी से प्राप्त ज्ञान!
  • जब लड़की देखने जाओ तो उसकी आवाज़ रेडियो से भी हल्की होती है...<br/>
शादी के बाद न जाने कौन सा वूफर लग जाते हैं!
    जब लड़की देखने जाओ तो उसकी आवाज़ रेडियो से भी हल्की होती है...
    शादी के बाद न जाने कौन सा वूफर लग जाते हैं!
  • नेता जनता की समस्याओं को उतनी ही गंभीरता से लेते हैं,<br/>
जितना हम सिगरेट, तंबाकू के पैकेट पर लिखी कैंसर की चेतावनी को!
    नेता जनता की समस्याओं को उतनी ही गंभीरता से लेते हैं,
    जितना हम सिगरेट, तंबाकू के पैकेट पर लिखी कैंसर की चेतावनी को!