• इश्क़ अगर ख़ाक न कर दे...<br/>
तो ख़ाक इश्क़ हुआ!
    इश्क़ अगर ख़ाक न कर दे...
    तो ख़ाक इश्क़ हुआ!
  • तू हँस, तू मुस्कुरा और रोना कम कर दे,<br/>
ज़िंदा है तू, ज़िन्दगी की नाक में दम कर दे!
    तू हँस, तू मुस्कुरा और रोना कम कर दे,
    ज़िंदा है तू, ज़िन्दगी की नाक में दम कर दे!
  • ये पैसा है जनाब, बहुत क़ीमती होता है!<br/>
जब तक आप के पास होता है, तब तक `अपनों` को साथ रखता है!
    ये पैसा है जनाब, बहुत क़ीमती होता है!
    जब तक आप के पास होता है, तब तक "अपनों" को साथ रखता है!
  • वैसे ही कुछ कम नहीं थे बोझ दिल पर,<br/>
और ये दर्जी भी जेब बायीं ओर सिल देता है!
    वैसे ही कुछ कम नहीं थे बोझ दिल पर,
    और ये दर्जी भी जेब बायीं ओर सिल देता है!
  • फिर से प्रयास करने से नहीं घबराना, क्योंकि इस बार शुरुआत शून्य से नहीं अनुभव से होगी!
    फिर से प्रयास करने से नहीं घबराना, क्योंकि इस बार शुरुआत शून्य से नहीं अनुभव से होगी!
  • ग़ुस्से में आप ख़ुद को भी नहीं संभाल सकते, लेकिन प्रेम से आप पूरी दुनिया को संभाल सकते हो!
    ग़ुस्से में आप ख़ुद को भी नहीं संभाल सकते, लेकिन प्रेम से आप पूरी दुनिया को संभाल सकते हो!
  • पुराने ज़माने में लोग एक-दूसरे की हिम्मत बढ़ाते थे और...<br/>
<br/>
आज-कल ब्लड प्रेशर!
    पुराने ज़माने में लोग एक-दूसरे की हिम्मत बढ़ाते थे और...

    आज-कल ब्लड प्रेशर!
  • जहाँ आपको लगे कि आपके लिए जगह नहीं है;<br/>
बस धक्का-मुक्की करके बना लो! हर बार इमोशनल होने की ज़रूरत नहीं!
    जहाँ आपको लगे कि आपके लिए जगह नहीं है;
    बस धक्का-मुक्की करके बना लो! हर बार इमोशनल होने की ज़रूरत नहीं!
  • देखकर जमाने का चलन, हमने भी बदल दिए `मिज़ाज` अपने;<br/>
रिश्ते सबसे हैं मगर `वास्ता` किसी से नहीं!
    देखकर जमाने का चलन, हमने भी बदल दिए "मिज़ाज" अपने;
    रिश्ते सबसे हैं मगर "वास्ता" किसी से नहीं!
  • किसी के दिल को चोट पहुँचा कर माफ़ी माँगना बहुत आसान होता है लेकिन खुद चोट खा कर किसी को माफ़ करना बहुत मुश्किल!
    किसी के दिल को चोट पहुँचा कर माफ़ी माँगना बहुत आसान होता है लेकिन खुद चोट खा कर किसी को माफ़ करना बहुत मुश्किल!