• हँसते रहें आप करोड़ों के बीच,<br/>
खिलते रहें आप लाखों के बीच,<br/>
रोशन रहें आप हज़ारों के बीच,<br/>
जैसे रहता है सूरज आसमान के बीच।<br/>
जन्मदिन की शुभ कामनायें!
    हँसते रहें आप करोड़ों के बीच,
    खिलते रहें आप लाखों के बीच,
    रोशन रहें आप हज़ारों के बीच,
    जैसे रहता है सूरज आसमान के बीच।
    जन्मदिन की शुभ कामनायें!
  • कुछ नेकियाँ ऐसी भी होनी चाहिए,<br/>
जिनका खुदा के सिवा कोई गवाह ना हो।<br/>
सुप्रभात!
    कुछ नेकियाँ ऐसी भी होनी चाहिए,
    जिनका खुदा के सिवा कोई गवाह ना हो।
    सुप्रभात!
  • ध्यान का अर्थ है भीतर से मुस्कुराना और सेवा का अर्थ है इस मुस्कुराहट को औरों तक पँहुचाना।<br/>
सुप्रभात!
    ध्यान का अर्थ है भीतर से मुस्कुराना और सेवा का अर्थ है इस मुस्कुराहट को औरों तक पँहुचाना।
    सुप्रभात!
  • सच्चे और शुभचिंतक लोग हमारे जीवन में सितारों की तरह होते हैं...
    वो चमकते तो सदैव ही रहते है परंतु दिखाई तभी देते हैं जब अंधकार छा जाता है।
    सुप्रभात!
  • जन्मदिन के ये ख़ास लम्हें मुबारक;<br/>
आँखों में बसे नए ख्वाब मुबारक;<br/>
ज़िन्दगी जो लेकर आई है आपके लिए आज,<br/>
वो तमाम खुशियों की हसीन सौगात मुबारक।<br/>
जन्मदिन की बधाई!
    जन्मदिन के ये ख़ास लम्हें मुबारक;
    आँखों में बसे नए ख्वाब मुबारक;
    ज़िन्दगी जो लेकर आई है आपके लिए आज,
    वो तमाम खुशियों की हसीन सौगात मुबारक।
    जन्मदिन की बधाई!
  • उदासियों की वजह तो बहुत है जिंदगी में;
    पर बेवजह खुश रहने का मज़ा ही कुछ और है।
    इसलिए हमेशा खुश रहो।
    सुप्रभात!
  • खिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो;<br/>
ना कोई गम हो ना कोई बेबसी हो;<br/>
सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र;<br/>
जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो।<br/>
सुप्रभात!
    खिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो;
    ना कोई गम हो ना कोई बेबसी हो;
    सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र;
    जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो।
    सुप्रभात!
  • तेरे पैगाम के इंतज़ार में दिन गुज़ार दिया,<br/>
अब रहने देना, ख्वाबों में मिल लूँगा रात में।<br/>
शुभरात्रि!
    तेरे पैगाम के इंतज़ार में दिन गुज़ार दिया,
    अब रहने देना, ख्वाबों में मिल लूँगा रात में।
    शुभरात्रि!
  • तब तक कमाओ जब तक महंगी चीज़ सस्ती ना लगने लगे;<br/>
चाहे वो सम्मान हो या सामान।<br/>
सुप्रभात!
    तब तक कमाओ जब तक महंगी चीज़ सस्ती ना लगने लगे;
    चाहे वो सम्मान हो या सामान।
    सुप्रभात!
  • सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;<br/>
चाँद आया है आपको लोरी सुनाने के लिए;<br/>
सो जाओ मीठे ख़्वाबों में आप;<br/>
सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए।<br/>
शुभरात्रि!
    सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए;
    चाँद आया है आपको लोरी सुनाने के लिए;
    सो जाओ मीठे ख़्वाबों में आप;
    सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए।
    शुभरात्रि!