• बेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,<br/>
ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हैं,<br/>
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,<br/>
ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।<br/>
सुप्रभात!
    बेझिझक मुस्कुराएँ जो भी गम है,
    ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हैं,
    अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
    ज़िन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।
    सुप्रभात!
  • सफलता भी फीकी लगती है यदि कोई बधाई देने वाला नहीं हो और विफलता भी सुंदर लगती है जब आपके साथ कोई अपना खड़ा हो।<br/>
सुप्रभात!
    सफलता भी फीकी लगती है यदि कोई बधाई देने वाला नहीं हो और विफलता भी सुंदर लगती है जब आपके साथ कोई अपना खड़ा हो।
    सुप्रभात!
  • रात गुज़री फिर महकती सुबह आई,<br/>
दिल धड़का फिर आपकी याद आई,<br/>
आँखों ने महसूस किया उस हवा को,<br/>
जो आपको छूकर हमारे पास आई।<br/>
सुप्रभात!
    रात गुज़री फिर महकती सुबह आई,
    दिल धड़का फिर आपकी याद आई,
    आँखों ने महसूस किया उस हवा को,
    जो आपको छूकर हमारे पास आई।
    सुप्रभात!
  • चाँद तारे छुप गए मिट गया अंधकार,<br/>
धूप सुनहरी देखकर जाग गया संसार,<br/>
दिन आपका गुजरे अच्छा करते है दुआ हज़ार,<br/>
भेज रहे हैं खिली धूप के साथ सुबह का नमस्कार।<br/>
सुप्रभात!
    चाँद तारे छुप गए मिट गया अंधकार,
    धूप सुनहरी देखकर जाग गया संसार,
    दिन आपका गुजरे अच्छा करते है दुआ हज़ार,
    भेज रहे हैं खिली धूप के साथ सुबह का नमस्कार।
    सुप्रभात!
  • सूरज की पहली किरण आपको हँसी दे,<br/>
उड़ते पंछी आपको मधुर वाणी दे,<br/>
ताज़ी हवा की ख़ुशबू आपको शांति दे,<br/>
इसी तरह आपका दिन मंगलमय रहे।<br/>
सुप्रभात!
    सूरज की पहली किरण आपको हँसी दे,
    उड़ते पंछी आपको मधुर वाणी दे,
    ताज़ी हवा की ख़ुशबू आपको शांति दे,
    इसी तरह आपका दिन मंगलमय रहे।
    सुप्रभात!
  • हो मुबारक सुहानी रात, <br/>
ख्वाबों में भी मिले रब का साथ;<br/>
खुलें जब पलकें तो तमाम खुशियाँ हो आपके साथ।<br/>
शुभरात्रि!
    हो मुबारक सुहानी रात,
    ख्वाबों में भी मिले रब का साथ;
    खुलें जब पलकें तो तमाम खुशियाँ हो आपके साथ।
    शुभरात्रि!
  • कलियाँ खिल उठी एक प्यारे से एहसास के साथ,<br/>
एक नया विश्वास दिन की शुरुआत एक मीठी सी मुस्कान के साथ,<br/>
आपको बोलना है मंगलमय हो आपका हर दिन, मंगल हो ये सुप्रभात।<br/>
सुप्रभात!
    कलियाँ खिल उठी एक प्यारे से एहसास के साथ,
    एक नया विश्वास दिन की शुरुआत एक मीठी सी मुस्कान के साथ,
    आपको बोलना है मंगलमय हो आपका हर दिन, मंगल हो ये सुप्रभात।
    सुप्रभात!
  • पलकों में ख्वाबों की पालकी ले आई नींद सुहानी,<br/>
सो जाओ अब मिलते हैं कल ले कर नई कहानी।<br/>
शुभ रात्रि!
    पलकों में ख्वाबों की पालकी ले आई नींद सुहानी,
    सो जाओ अब मिलते हैं कल ले कर नई कहानी।
    शुभ रात्रि!
  • यदि हम उंचा उठना चाहते है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का करना पडेगा... क्योंकि ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है।<br/>
सुप्रभात!
    यदि हम उंचा उठना चाहते है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का करना पडेगा... क्योंकि ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है।
    सुप्रभात!
  • ना किसी के आभाव में जियो, ना किसी के प्रभाव में जियो;<br/>

ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।<br/>

सुप्रभात!
    ना किसी के आभाव में जियो, ना किसी के प्रभाव में जियो;
    ज़िन्दगी आपकी है बस अपने मस्त स्वभाव में जियो।
    सुप्रभात!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT