• अर्ज़ किया है:<br/>
उसने होंठों से छू कर लौड़े पे नशा कर दिया;<br/>
लंड की बात तो और थी यारो उसने तो झांटों को भी खड़ा कर दिया।
    अर्ज़ किया है:
    उसने होंठों से छू कर लौड़े पे नशा कर दिया;
    लंड की बात तो और थी यारो उसने तो झांटों को भी खड़ा कर दिया।
  • मोहब्बत के सिवा और भी गम है जमाने में;<br/>
चुत का भौसडा बन जाता है पैसा कमाने में।
    मोहब्बत के सिवा और भी गम है जमाने में;
    चुत का भौसडा बन जाता है पैसा कमाने में।
  • चोदते चोदते सुबह हो गयी लंड पे पड़ गए छाले;<br/>
चूत फट के गुफा हो गयी वाह रे चोदने वाले!
    चोदते चोदते सुबह हो गयी लंड पे पड़ गए छाले;
    चूत फट के गुफा हो गयी वाह रे चोदने वाले!
  • गीली-गीली फुद्दी में लंड फिसल गया;<br/>
जरा गौर से फरमाइएगा:<br/>
गीली-गीली फुद्दी में लंड फिसल गया;<br/>
और दोनो गोटियाँ परेशान, `साला उस्ताद किधर गया`।
    गीली-गीली फुद्दी में लंड फिसल गया;
    जरा गौर से फरमाइएगा:
    गीली-गीली फुद्दी में लंड फिसल गया;
    और दोनो गोटियाँ परेशान, "साला उस्ताद किधर गया"।
  • मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;<br/>
वाह वाह... भोसड़ी के पहले सुन तो।<br/>
मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;<br/>
यार चूस के बता, मीठे हैं या खट्टे।
    मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    वाह वाह... भोसड़ी के पहले सुन तो।
    मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    यार चूस के बता, मीठे हैं या खट्टे।
  • कोशिश आखिरी सांस तक करनी चाहिये यारो,<br/>
मिल गयी तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत!
    कोशिश आखिरी सांस तक करनी चाहिये यारो,
    मिल गयी तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत!
  • सभी को खलता है मेरा बड़ा होना,
    गुनाह है क्या अपने आप मेरा खड़ा होना।
  • इश्क मोहब्बत क्या है मुझे नही मालूम,
    बस उसकी याद आती है और खडा हो जाता है।
  • एक बार नहीं सौ बार ये दिल टूटा;
    पर चोदने का शौक साला फिर भी ना छूटा।
  • मारना ही था तो कुछ और तरीका अपना लेती जालिम,
    जहर भी चटाया तो चूत पे लगाके।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
Top Authors