• चोदते चोदते सुबह हो गयी लंड पे पड़ गए छाले;
    चूत फट के गुफा हो गयी वाह रे चोदने वाले!
  • महबूब मेरे... महबूब मेरे;
    तेरी मस्ती में मुझे जीने दे;
    बोहुत दूध है तेरे सीने में;
    मुझे दबा दबा के पीने दे!
  • हमने तो वफ़ा की थी, पर उसने ही दिल तोडा मेरा;
    फिर एक दिन उसने मैसेज किया, 'याद आती है क्या?'
    हमने भी लिख दिया 'लौड़ा मेरा'!
  • कुंवारी कलि ना चोदिये, चूत पे करे घमंड;
    चुदी चुदाई चोदिये, जो लपक के लेवे लंड।
  • देख तेरे लंड की हालत क्या हो गई है इंसान;
    उसमें बची नहीं है अब कोई जान;
    बूब्स दिखाये, चूत दिखाई और दिखाई गांड;
    फिर भी उठा नहीं शैतान;
    कितना लटक गया हैवान।
  • करत करत चुदाई से, लंड होत बलवान;
    चूत मैं आवत जावत से, लंड बने महान।
  • मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    वाह वाह...
    भोसड़ी के पहले सुन तो।
    मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    यार चूस के बता, मीठे हैं या खट्टे।
  • हमारी एक मुस्कुराहट पर वो हमसे सेक्स कर बैठे;<br />
वाह वाह।<br />
हमारी एक मुस्कुराहट पर वो हमसे सेक्स कर बैठे;<br />
वो पैंटी पहनने ही वाली थी कि हम फिर से मुस्कुरा बैठे।
    हमारी एक मुस्कुराहट पर वो हमसे सेक्स कर बैठे;
    वाह वाह।
    हमारी एक मुस्कुराहट पर वो हमसे सेक्स कर बैठे;
    वो पैंटी पहनने ही वाली थी कि हम फिर से मुस्कुरा बैठे।
  • हर शाम सुहानी नहीं होती;
    हर चाहत के पीछे कहानी नहीं होती;
    कुछ तो असर ज़रूर होगा मोहब्बत में;
    वर्ना गोरी लड़की काले औज़ार की दीवानी नहीं होती।
  • अर्ज़ किया है:<br />
उड़ती हुई फ्रॉक को काबू में रखो;<br />
उड़ती हुई फ्रॉक को काबू में रखो;<br />
वाह! वाह!<br />
पैंटी ना पहनो कोई बात नहीं, कम से कम बगीचा तो साफ़ रखो।
    अर्ज़ किया है:
    उड़ती हुई फ्रॉक को काबू में रखो;
    उड़ती हुई फ्रॉक को काबू में रखो;
    वाह! वाह!
    पैंटी ना पहनो कोई बात नहीं, कम से कम बगीचा तो साफ़ रखो।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
Top Authors