SantaBanta SMS # 19334

Page: 1
मैं तो चिराग हूँ, तेरे आशियानों का कभी न कभी तो बुझ जाऊंगा; 
आज तुझे शिकायत है, मेरे उजाले से, कल 'अँधेरे' में बहुत याद आऊंगा!
मैं तो चिराग हूँ, तेरे आशियानों का कभी न कभी तो बुझ जाऊंगा;
आज तुझे शिकायत है, मेरे उजाले से, कल 'अँधेरे' में बहुत याद आऊंगा!

Quotes

इस संसार में जन्म, जरा और मरण के दुःख से ग्रस्त जीव को कोई सुख नहीं है। अत: मोक्ष ही उपादेय है।

Trivia

64 billion messages are sent through WhatsApp every day.

Graffiti

The more you say, the less people remember!