•  

    जिस समय रावण मरणासन्न अवस्था में था, उस समय भगवान श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा कि इस संसार से नीति, राजनीति और शक्ति का महान् पंडित विदा ले रहा है, तुम उसके पास जाओ और उससे जीवन की कुछ ऐसी शिक्षा ले लो जो और कोई नहीं दे सकता।

    श्रीराम की बात मानकर लक्ष्मण मरणासन्न अवस्था में पड़े रावण के सिर के नजदीक जाकर खड़े हो गए।

    रावण ने कुछ नहीं कहा।

    लक्ष्मण जी वापस रामजी के पास लौटकर आए... तब भगवान ने कहा कि यदि किसी से ज्ञान प्राप्त करना हो तो उसके चरणों के पास खड़े होना चाहिए न कि सिर की ओर।

    यह बात सुनकर लक्ष्मण जाकर इस बार रावण के पैरों की ओर खड़े हो गए।

    उस समय महापंडित रावण ने लक्ष्मण को तीन बातें बताई जो जीवन में सफलता की कुंजी है।

    पहली बात जो रावण ने लक्ष्मण को बताई वह ये थी कि
    "What's app से दूर रहना।"

    दूसरी बात "Facebook का प्रयोग मत करना।"

    और तीसरी बात "गाड़ी चलाते समय Mobile मत इस्तेमाल करना। नहीं तो बड़ा बुरा हाल होगा।"
  • इंजीनियर और हिंदी फिल्में! अगर इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हिंदी फिल्में बनाते तो उनके नाम कुछ ऐसे होते:
    करंट हो न हो
    जानम सप्लाई...
  • पति के साथ प्यार से कैसे रहें? `पति के साथ प्यार से कैसे रहें` इस विषय पर औरतों का एक सेमीनार हो रहा था।
    उनसे एक सवाल किया गया कि आप में से अपने पति से कौन प्यार करती हैं?
    सभी औरतों ने अपने...
  • शराबी की शालीनता! शराब का हमारी अर्थव्यवस्था में बडा महत्व है, क्योंकि शराबी एक मॉडल टैक्सपेयर होता है। किसी भी आइटम पर टैक्स लगाया जाये, उसे देने वाला बवाल मचा देता है। पैट्रोल पर...
  • चालाकी पड़ गयी भारी! एक डॉक्टर ने नया-नया क्लिनिक खोला तो बाहर बोर्ड टाँग दिया, जिसपे लिखा था, "किसी भी बीमारी का इलाज़ मात्र 300/- रुपये में और अगर हम आपका इलाज़ नहीं कर पाये तो...
  • अच्छी खबर! एक अस्पताल में एक आदमी एमरजेंसी वार्ड में अपने बेड पर लेटा था, डॉक्टर ने दरवाजा खोला और उस आदमी के पास पहुंच गया।
    आदमी ने डॉक्टर से पूछा, "डॉक्टर साहब...