• अलग-अलग बीमारियों में दारू कैसे पीएँ?

    * खाँसी हो तो मुलैठी के पानी के साथ
    * बुखार हो तो शहद मिलाकर
    * गर्मी हो तो सोडा के साथ
    * ठंड लगे तो छुवारे के साथ
    * ताकत के लिए मुर्गे के साथ
    * कौलेस्टेरौल ज़्यादा हो तो मच्छी के साथ
    * रक्तचाप कम हो तो नमकीन भुजिया के साथ
    * रक्तचाप बढ़े तो बरफ डाल कर
    * पेशाब रुक कर आए तो बीयर के साथ
    * वजन कम करना हो तो सलाद के साथ
    * वजन बढ़ाना हो तो घी के आलू पराठों के साथ
    * गला खराब हो तो नमक डाल कर गरारे करो
    * कब्ज़ हो तो सादे पानी के साथ
    * लूज़ मोशन हो तो अनार के रस के साथ
    * हाथ*पैर काँपते हों तो पनीर के साथ
    * शुगर हो तो चने के साथ
    * पेट खराब हो तो अमरूद के साथ
    * कोई बीमारी ना हो तो शौक से पीओ

    शौक का कोई मोल नहीं होता पिओ और जीओ
  • कहानी से सबक!

    स्कूल में टीचर ने चौथी क्लास के बच्चों को होमवर्क दिया।

    "कोई स्टोरी सोच के आना और फिर क्लास को बताना कि उससे हमें क्या सबक मिलता है?"

    अगले दिन एक बच्चे ने क्लास में स्टोरी सुनाई:
    "मेरा बापू कारगिल की जंग में लड़ा। उस के हेलीकॉप्टर को दुश्मनों ने मार गिराया। वो दारू की एक बोतल के साथ पहले ही हेलिकॉप्टर से कूद गया लेकिन बार्डर के पार दुश्मनों के इलाके में जा गिरा। जहां कि उस को घेरने के लिए दुश्मनों की फौज दौड पड़ी।

    बापू ने गटागट दारू की बोतल पीकर खाली की और अपनी बंदूक संभाल ली। दुश्मन के सौ फौजियों ने आ कर उसे घेर लिया तो उसने तड़ातड़ गोलियां चला कर दुश्मन के सत्तर फौजी मार ड़ाले। फिर उसकी गोलियां खत्म हो गयीं तो उसने बंदूक पर लगी किर्च से दुश्मन के बीस फौजी मार गिराये। तब उसने बंदूक फेंक दी और निहत्थे ही बाकी के दस और दुश्मन फौजी मार गिराये और फिर टहलता हुआ बार्डर पार कर के अपने इलाके में आ गया।"

    टीचर भौंचक्का सा उसका मुँह देखने लगा, फिर वैसा ही भौंचक्का सा बोला, "कहानी बढिया है, लेकिन इस से हमें सबक तो कोई नहीं मिलता।"

    "मिलता है न।" बच्चा शान से बोला।

    "क्या सबक मिलता है?" टीचर ने पूछा।

    "यही कि बापू टुन्न हो तो उस से पंगा नहीं लेने का।"
  • ये कैसा कानून

    एक बार अदालत में किसी मुक़दमे को लेकर दो वकीलों के बीच जिरह हो रही होती जो कि बाद में लड़ाई में तब्दील हो जाती है और बात गाली गलौच तक पहुँच जाती है, माहौल को गर्म होता देख जज कड़क आवाज़ में एक वकील से कहता है, " सुनो अब तुम अपनी हदें पार कर रहे हो जिसके चलते तुम्हे अदालत से निकाला जा सकता है!"

    यह सुन गुस्से से भरा वकील पलट कर जज से सवाल करता है, " कौन साला ऐसा कहता है?"

    वकील कि बात सुन जज भड़क जाता है और धमकी भरे लहज़े में वकील से कहता है,"तुम ने मुझे साला बोला?"

    जज कि बात सुन वकील कहता है, "नही मी लॉर्ड, मैं तो बस यह पूछ रहा था कि कौनसा लॉ ऐसा कहता है?"
  • घोड़ी का फ़ोन!

    एक बार एक पति अखबार पढ़ रहा होता है की तभी अचानक पीछे से आकर उसकी पत्नी उसे ज़ोरदार घूंसा मारती है।

    पति दर्द से तडपता हुआ उस से पूछता है, "क्या हुआ?"

    पत्नी: तुम्हारी शर्ट की जेब में एक कागज मिला है, जिस पर मैरी लिखा हुआ है।

    पति: ओह वो! तुम्हें याद है, पिछले सप्ताह मैं ट्रेकिंग पर गया था तो वहां पर मैंने जिस घोड़ी की सवारी की थी, मैरी उसका नाम था।

    अगले दिन जब पति दफ्तर से वापस आया तो बीवी ने फिर उसे एक जोरदार घूंसा रसीद कर दिया।

    पति ने फिर तड़पकर उस से पूछा, "अब क्या हुआ?"

    पत्नी: तुम्हारी घोड़ी का फोन आया था।