• संता की बल्लेबाजी!

    भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच चल रहा था सारे बल्लेबाज एक एक करके आउट हो रहे थे!

    पांच विकेट गिरने के संता बल्लेबाजी के लिए उतरा और धीरे धीरे मैदान पर पहुंचा और धीरे धीरे क्रीज पर आया और डरते डरते विकेट के सामने खड़ा हो गया!

    उसे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे किसी बकरी के बच्चे को कसाईखाने में लाकर खड़ा कर दिया हो क्योंकि गेंदबाजी के अटैक में सामने ब्रेट ली था!

    संता बल्लेबाजी के लिए तैयार हुआ जैसे ही सामने से ली भागते हुए आया संता विकेट के सामने से हट गया और साइड स्क्रीन की तरफ कुछ इशारा करने लगा!

    साइड स्क्रीन को ठीक किया गया और ब्रेट ली फिर से भागते हुए आया जब वह विकेट के नजदीक पहुँचने लगा संता फिर से साइड स्क्रीन की तरफ कुछ इशारा करता हुआ एक तरफ को हट गया पिच पर काफी देर तक ऐसा ही होता रहा!

    जब बार बार ऐसा हो रहा था तो अम्पायर खुद जाकर संता से बात करने लगा ....अरे आप इस साइड स्क्रीन को कहाँ फिट करवाना चाहते हो!

    संता ने डरते हुए कहा क्या आप इस स्क्रीन को मेरे और ली के बीच में ला सकते हैं!
  • जिन्न भी हर काम नहीं कर सकता!

    एक बार संता को रास्ते में एक चिराग मिला तो उसने सोचा कि, "क्यों ना चिराग रगड़ कर देखूं शायद इसमें से कोई जिन्न ही निकल आये"।

    यह सोच कर संता ने चिराग रगडा, तो उसमे से धुंए के साथ एक जिन्न निकल कर आया और संता से बोला।

    जिन्न: क्या हुकुम है मेरे आका?

    संता: मेरे बैंक खाते में 100 करोड़ रूपए जमा करा दो।

    जिन्न: यह तो थोडा मुश्किल काम है आका कोई और हुकुम करें।

    संता: तो ठीक है मेरे घर से लेकर अमेरिका तक सीधी सड़क बना दो।

    जिन्न: आका यह काम भी थोडा नामुमकिन सा है कोई और आदेश करें?

    जिन्न की बात सुन कर संता ने ठंडी सी आह भरते हुए कहा, "अच्छा चलो कम से कम मेरी बीवी को थोड़ी सी अक्ल देकर समझदार तो बना दो"।

    संता की बात सुन कर जिन्न तपाक से बोला, "आका सड़क सिंगल लेन बनानी है या डबल लेन"?
  • शाश्वत सत्य वचन!

    लीजिये कुछ शाश्वत सत्य वचन:

    1. अगर किसी लडके ने किसी लड़की से 'हाय/हैलो' कहा है तो वो इसे केवल 'हाय/हैलो' ही समझती है। इसके उल्ट अगर किसी लड़की ने किसी लडके को 'हैलो' कहा तो लड़का इसको केवल 'हैलो' नहीं समझेगा।

    2. अगर लड़का 'हैलो' को केवल 'हैलो' समझना भी चाहेगा तो उसके दोस्त ऐसा नहीं होने देंगे, आख़िर दोस्त होते ही किस दिन के लिए हैं।

    3. लड़के जिनकी गर्लफ्रेंड होती है और जिनकी नहीं होती है, में केवल एक फर्क होता है, पहले वाले लोग 'लड़कियों से बात करते हैं' और दूसरे वाले 'लड़कियों के बारे में बात करते हैं'।

    4. इंजीनियरिंग कालेज छोड़ दिए जाएँ तो संसार में सुन्दर लड़कियों की कोई कमी नहीं है।

    5. जो इंजीनियरिंग कालेज जितना अच्छा होगा वहाँ लड़कियों की गुणवत्ता कालेज की रैंक के व्युत्क्रमानुपाती होगी।

    6. आपके मित्र कभी नहीं चाहते कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड बने, वरना वो कैंटीन में किसके साथ बैठ कर मौज करेंगे।

    7. कालेज में लड़कियों के पीछे पंजीकरण बिल्कुल मुफ्त होता है, बन्दा साल में दो बार लड़की से बात नहीं करेगा लेकिन कैंटीन में हमेशा 'मेरी वाली'/'तेरी वाली' संबोधन से ही बात होगी।
  • कार नई है या बीवी?

    एक दिन संता और बंता पार्क के बाहर बैठे होते हैं, कि इतने में वहां पर एक कार आकर रूकती है जिसमे से एक आदमी उतरता है और साथ बैठी हुई अपनी पत्नी के लिए दरवाज़ा खोलता, उस आदमी को ऐसा करते हुए बंता, संता से कहता है;

    बंता: यार लगता है यह आदमी अपनी बीवी से बेहद प्यार करता है?

    संता: अरे यार ऐसा कुछ नहीं है!

    संता का जवाब सुन बंता उस से हैरानी से पूछता है;

    बंता: यार अगर ऐसा कुछ नहीं है तो उसने अपनी बीवी के लिए इतनी इज्ज़त से कार का दरवाज़ा क्यों खोला?

    संता: यार देखो यदि आदमी अपनी बीवी के लिए खुद कार का दरवाजा खोले तो उससे दो बातें साफ हो जाती हैं!

    बंता: कौन-सी दो बात ?

    संता: या तो कार नई है या फिर बीवी!