• आज का ज्ञान:<br/>
कृपया अपने पति की  कमियों की वजह से उन्हें कोसे नहीं!<br/>
हो सकता है इन्हीं कमियों की वजह से उन्हें अच्छी पत्नी न मिल पायी हो!
    आज का ज्ञान:
    कृपया अपने पति की कमियों की वजह से उन्हें कोसे नहीं!
    हो सकता है इन्हीं कमियों की वजह से उन्हें अच्छी पत्नी न मिल पायी हो!
  • पत्नी जब कहती है क्या?<br/>
तो इसका ये मतलब नहीं कि उसने सुना नहीं बल्कि वो आपको अपना वाक्य बदलने का एक मौका देती है!
    पत्नी जब कहती है क्या?
    तो इसका ये मतलब नहीं कि उसने सुना नहीं बल्कि वो आपको अपना वाक्य बदलने का एक मौका देती है!
  • भक्त: बाबा जी पत्नी को खुश कैसे रखें?<br/>
बाबा: पर्स का मुँह खुला और अपना मुँह बंद रखें!
    भक्त: बाबा जी पत्नी को खुश कैसे रखें?
    बाबा: पर्स का मुँह खुला और अपना मुँह बंद रखें!
  • पता नहीं सब लोग आलसी लोगों से नफ़रत क्यों करते हैं जबकि...<br/>
वो बेचारे तो कुछ करते भी नहीं हैं!
    पता नहीं सब लोग आलसी लोगों से नफ़रत क्यों करते हैं जबकि...
    वो बेचारे तो कुछ करते भी नहीं हैं!
  • क्या आप भी जब घरवाले आपके फोन से किसी को फोन करते हैं और जब तक बात खत्म नहीं हो जाती तो आप घरवालों के चारों तरफ चक्कर काटते रहते हो?
    क्या आप भी जब घरवाले आपके फोन से किसी को फोन करते हैं और जब तक बात खत्म नहीं हो जाती तो आप घरवालों के चारों तरफ चक्कर काटते रहते हो?
  • मास्क पहनने का कुछ लोगों को एक फायदा यह हो गया कि...<br/>
उनकी नाक में ऊँगली डालने की आदत छूट गयी!
    मास्क पहनने का कुछ लोगों को एक फायदा यह हो गया कि...
    उनकी नाक में ऊँगली डालने की आदत छूट गयी!
  • जैसे कोरोना की कॉलर ट्यून आयी थी, अब बर्डफ्लू की कॉलर ट्यून आयेगी...<br/>
`ध्यान रहे हमें बर्डफ्लू से लड़ना है मुर्गों से नहीं`<br/>
 जब तक दवाई नहीं तब तक चूल्हे पर कढाई नहीं।
    जैसे कोरोना की कॉलर ट्यून आयी थी, अब बर्डफ्लू की कॉलर ट्यून आयेगी...
    "ध्यान रहे हमें बर्डफ्लू से लड़ना है मुर्गों से नहीं"
    जब तक दवाई नहीं तब तक चूल्हे पर कढाई नहीं।
  • आज का ज्ञान:<br/>
व्हाट्सप्प कितना भी डाटा लीक क्यों ही ना कर ले...<br/>
रिश्तेदारों की बराबरी कभी नहीं कर सकता!
    आज का ज्ञान:
    व्हाट्सप्प कितना भी डाटा लीक क्यों ही ना कर ले...
    रिश्तेदारों की बराबरी कभी नहीं कर सकता!
  • अगर अपने रिश्तेदारों की परेशानी जानना चाहते हो तो...<br/>
बीच-बीच में उनसे दो-चार हज़ार रुपये माँग लिया करो!
    अगर अपने रिश्तेदारों की परेशानी जानना चाहते हो तो...
    बीच-बीच में उनसे दो-चार हज़ार रुपये माँग लिया करो!
  • वैक्सीन को लेकर यह हालात हैं कि - <br/>
मिलो न तुम तो दिल घबराए, मिलो तो आँख चुराएँ, हमें क्या हो गया है!
    वैक्सीन को लेकर यह हालात हैं कि -
    मिलो न तुम तो दिल घबराए, मिलो तो आँख चुराएँ, हमें क्या हो गया है!