• मरने का डर जीने के डर से पैदा होता है।</br> जो इंसान पूरी तरह जीता है वो किसी भी वक़्त मरने के लिए तैयार रहता है।
    मरने का डर जीने के डर से पैदा होता है।
    जो इंसान पूरी तरह जीता है वो किसी भी वक़्त मरने के लिए तैयार रहता है।
    ~ Mark Twain
  • क्रोध वह तेज़ाब है जो किसी भी चीज जिसपर वह डाला जाये, से ज्यादा उस पात्र को अधिक हानि पहुंचा सकता है जिसमें वह रखा है।
    क्रोध वह तेज़ाब है जो किसी भी चीज जिसपर वह डाला जाये, से ज्यादा उस पात्र को अधिक हानि पहुंचा सकता है जिसमें वह रखा है।
    ~ Mark Twain
  • पहले भगवान ने बेवकूफ लोग बनाये। वो अभ्यास के लिए था। फिर उन्होंने स्कूल बोर्ड्स बनाये।
    पहले भगवान ने बेवकूफ लोग बनाये। वो अभ्यास के लिए था। फिर उन्होंने स्कूल बोर्ड्स बनाये।
    ~ Mark Twain
  • साहस भय के प्रति प्रतिरोध है, भय का स्वामित्व है - भय का अभाव नहीं है।
    साहस भय के प्रति प्रतिरोध है, भय का स्वामित्व है - भय का अभाव नहीं है।
    ~ Mark Twain
  • वो लिखो जो तुम जानते हो।
    वो लिखो जो तुम जानते हो।
    ~ Mark Twain
  • `क्लासिक` - एक ऐसी किताब जिसकी लोग प्रशंशा करते हैं और पढ़ते नहीं।
    `क्लासिक` - एक ऐसी किताब जिसकी लोग प्रशंशा करते हैं और पढ़ते नहीं।
    ~ Mark Twain
  • इस में कोई अचरज नहीं कि सच कल्पना से अनोखा है! कल्पना का कोई अर्थ होना चाहिए।
    इस में कोई अचरज नहीं कि सच कल्पना से अनोखा है! कल्पना का कोई अर्थ होना चाहिए।
    ~ Mark Twain
  • हंसी के हमले के आगे कुछ भी नहीं ठहर सकता!
    हंसी के हमले के आगे कुछ भी नहीं ठहर सकता!
    ~ Mark Twain
  • हास्य मानव जाति की सबसे बड़ा आशीर्वाद है!
    हास्य मानव जाति की सबसे बड़ा आशीर्वाद है!
    ~ Mark Twain
  • आवश्यकता जोखिम उठाने की जननी है!
    आवश्यकता जोखिम उठाने की जननी है!
    ~ Mark Twain