• मैं उम्र भर जिनका न कोई दे सका जवाब;<br/>
वह इक नजर में, इतने सवालात कर गये!
    मैं उम्र भर जिनका न कोई दे सका जवाब;
    वह इक नजर में, इतने सवालात कर गये!
  • जो मुस्कुरा रहा है उसे दर्द ने पाला होगा,<br/>
जो चल रहा है उसके पाँव में छाला होगा,<br/>
बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता,<br/>
जो जलेगा उसी दिये में तो उजाला होगा!
    जो मुस्कुरा रहा है उसे दर्द ने पाला होगा,
    जो चल रहा है उसके पाँव में छाला होगा,
    बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता,
    जो जलेगा उसी दिये में तो उजाला होगा!
  • हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये,<br/>
हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये,<br/>
जो आपके बिना जी न सके एक पल,<br/>
उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये!
    हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये,
    हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये,
    जो आपके बिना जी न सके एक पल,
    उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये!
  • मंजिल मिले न मिले, ये तो मुकद्दर की बात है;<br/>
हम कोशिश ही न करे ये तो गलत बात है!
    मंजिल मिले न मिले, ये तो मुकद्दर की बात है;
    हम कोशिश ही न करे ये तो गलत बात है!
  • ख़्वाब, उम्मीद, तमन्नाएँ, तअल्लुक़, रिश्ते; <br/>
जान ले लेते हैं आख़िर ये सहारे सारे!
    ख़्वाब, उम्मीद, तमन्नाएँ, तअल्लुक़, रिश्ते;
    जान ले लेते हैं आख़िर ये सहारे सारे!
    ~ Imran-Ul-Haq Chahuhan
  • नजरें मिला कर किया दिल को ज़ख़्मी,<br/>
अदाएं दिखा कर सितम ढहा रहे हो;<br/>
वफाओं का मेरी खूब सिला दिया है,<br/>
तड़पता हुआ छोड़ कर जा रहे हो!
    नजरें मिला कर किया दिल को ज़ख़्मी,
    अदाएं दिखा कर सितम ढहा रहे हो;
    वफाओं का मेरी खूब सिला दिया है,
    तड़पता हुआ छोड़ कर जा रहे हो!
  • ना कोई उस से भाग सके और ना कोई उस को पाए; <br/>
आप ही घाव लगाए समय और आप ही भरने आए!
    ना कोई उस से भाग सके और ना कोई उस को पाए;
    आप ही घाव लगाए समय और आप ही भरने आए!
    ~ Jameeluddin Aali
  • भीगी मिट्टी की महक प्यास बढ़ा देती है; <br/>
दर्द बरसात की बूँदों में बसा करता है!
    भीगी मिट्टी की महक प्यास बढ़ा देती है;
    दर्द बरसात की बूँदों में बसा करता है!
    ~ Marghub Ali
  • ख़ुदा की इतनी बड़ी काएनात में मैंने; <br/>
बस एक शख़्स को माँगा मुझे वही न मिला!
    ख़ुदा की इतनी बड़ी काएनात में मैंने;
    बस एक शख़्स को माँगा मुझे वही न मिला!
    ~ Bashir Badr
  • चल हो गया फैंसला कुछ कहना ही नहीं;<br/>
तू जी ले मेरे बगैर मुझे जीना ही नहीं!
    चल हो गया फैंसला कुछ कहना ही नहीं;
    तू जी ले मेरे बगैर मुझे जीना ही नहीं!