• आज का ज्ञान:<br/>
आदमी `सलून` से आकर नहाता है, जबकि...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
औरत `ब्यूटी पार्लर` से आकर मुँह भी नही धोती!
    आज का ज्ञान:
    आदमी "सलून" से आकर नहाता है, जबकि...
    .
    .
    .
    .
    .
    औरत "ब्यूटी पार्लर" से आकर मुँह भी नही धोती!
  • मोबाइल कंपनियों ने भी अपने यूजर्स को गीता का सार दिया है।<br/>
दुनिया में कुछ भी शाश्वत नहीं है, और परिवर्तन ही संसार का नियम है।
    मोबाइल कंपनियों ने भी अपने यूजर्स को गीता का सार दिया है।
    दुनिया में कुछ भी शाश्वत नहीं है, और परिवर्तन ही संसार का नियम है।
  • अभी मैं बैठा-बैठा सोच ही रहा था कि क्या हूँ मैं, कौनहूं मैं?<br/>
तभी पीछे से मम्मी की आवाज आई... निक्कमा है तू और कामचोर भी!
    अभी मैं बैठा-बैठा सोच ही रहा था कि क्या हूँ मैं, कौनहूं मैं?
    तभी पीछे से मम्मी की आवाज आई... निक्कमा है तू और कामचोर भी!
  • जिस गति से मीठा कम खाने वाले लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है वो दिन दूर नहीं जब...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
`गुलाब जामुन`भी मसालेदार बनने लगेंगे!
    जिस गति से मीठा कम खाने वाले लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है वो दिन दूर नहीं जब...
    .
    .
    .
    .
    .
    "गुलाब जामुन"भी मसालेदार बनने लगेंगे!
  • समय और पेट कब निकल जाता है पता ही नहीं चलता।<br/>
फिर न पेट अपनी जगह वापस आ पाता है न ही समय।
    समय और पेट कब निकल जाता है पता ही नहीं चलता।
    फिर न पेट अपनी जगह वापस आ पाता है न ही समय।
  • क्या हुआ जो हमारा रुपया डॉलर का मुकाबला नहीं कर पाया?<br/>
हमारा प्याज़ तो पूरी टक्कर दे रहा है!
    क्या हुआ जो हमारा रुपया डॉलर का मुकाबला नहीं कर पाया?
    हमारा प्याज़ तो पूरी टक्कर दे रहा है!
  • इंटरव्युअर: आपका चरित्र प्रमाण पत्र?<br/>
कैंडिडेट: सर वो तो लाना भूल गया!<br/>
इंटरव्युअर: कोई बात नहीं लाओ अपना मोबाइल दिखाओ!
    इंटरव्युअर: आपका चरित्र प्रमाण पत्र?
    कैंडिडेट: सर वो तो लाना भूल गया!
    इंटरव्युअर: कोई बात नहीं लाओ अपना मोबाइल दिखाओ!
  • आखिरकार वो मौसम आ ही गया जब गर्मा-गर्म गाजर का हलवाआपको अपनी ओर खींचेगा!<br/>
और ट्रेडमिल अपनी ओर!<br/>
पर अंत में जीत हलवे की ही होगी।
    आखिरकार वो मौसम आ ही गया जब गर्मा-गर्म गाजर का हलवाआपको अपनी ओर खींचेगा!
    और ट्रेडमिल अपनी ओर!
    पर अंत में जीत हलवे की ही होगी।
  • नाराज़गी भी एक खूबसूरत रिश्ता है!<br/>
जिससे भी होती है, वह व्यक्ति दिल और दिमाग, दोनों में रहता है!
    नाराज़गी भी एक खूबसूरत रिश्ता है!
    जिससे भी होती है, वह व्यक्ति दिल और दिमाग, दोनों में रहता है!
  • जो सुख में साथ दें वो रिश्ते होते हैं और जो दुःख में साथ हों वो फ़रिश्ते होते हैं!
    जो सुख में साथ दें वो रिश्ते होते हैं और जो दुःख में साथ हों वो फ़रिश्ते होते हैं!