• आज का ज्ञान:<br/>
इस सर्दी के मौसम में ये ज़रूरी नहीं है कि तुम रोज़ नहाओ,<br/>
बस तुम्हारा मन साफ होना चाहिए!
    आज का ज्ञान:
    इस सर्दी के मौसम में ये ज़रूरी नहीं है कि तुम रोज़ नहाओ,
    बस तुम्हारा मन साफ होना चाहिए!
  • जब किस्मत में ही रोना लिखा हो तो...<br/>
मुस्कान और ख़ुशी नाम की लड़कियाँ भी गम दे जाती हैं!
    जब किस्मत में ही रोना लिखा हो तो...
    मुस्कान और ख़ुशी नाम की लड़कियाँ भी गम दे जाती हैं!
  • ज़्यादा दिन सिंगल रहने से आप मर सकते हैं!<br/>
कभी भी और किसी पर भी!
    ज़्यादा दिन सिंगल रहने से आप मर सकते हैं!
    कभी भी और किसी पर भी!
  • कहते हैं ज़हर ज़हर को काटता है, लोहा लोहे को काटता है;<br/>
तो क्या ठंड में शरीर पर बर्फ लगा सकते हैं क्या?
    कहते हैं ज़हर ज़हर को काटता है, लोहा लोहे को काटता है;
    तो क्या ठंड में शरीर पर बर्फ लगा सकते हैं क्या?
  • पुलिस: आपके पति कैसे मरे?<br/>
महिला: ज़हर खा कर!<br/>
पुलिस: तो इनके शरीर पर ये चोट के निशान कैसे हैं?<br/>
महिला: ज़हर खाने से मना कर रहे थे!
    पुलिस: आपके पति कैसे मरे?
    महिला: ज़हर खा कर!
    पुलिस: तो इनके शरीर पर ये चोट के निशान कैसे हैं?
    महिला: ज़हर खाने से मना कर रहे थे!
  • दुनिया में 3 तरह के लोग होते हैं!<br/>
आयुर्वेदिक: मतलब बोलचाल में बहुत बढ़िया, लेकिन इमरजेंसी में काम नहीं आते!<br/>
एलोपैथिक: इमरजेंसी में यही काम आते हैं, लेकिन कब, क्या साइड इफ़ेक्ट दिखा दें, भरोसा नहीं!<br/>
होम्योपैथिक: मतलब वैसे तो कोई काम के नहीं होते, लेकिन साथ रहते हैं तो अच्छा लगता है!
    दुनिया में 3 तरह के लोग होते हैं!
    आयुर्वेदिक: मतलब बोलचाल में बहुत बढ़िया, लेकिन इमरजेंसी में काम नहीं आते!
    एलोपैथिक: इमरजेंसी में यही काम आते हैं, लेकिन कब, क्या साइड इफ़ेक्ट दिखा दें, भरोसा नहीं!
    होम्योपैथिक: मतलब वैसे तो कोई काम के नहीं होते, लेकिन साथ रहते हैं तो अच्छा लगता है!
  • भीड़ में अलग दिखना चाहते हो तो...<br/>
टी-शर्ट पहन के घूमना शुरू कर दो!
    भीड़ में अलग दिखना चाहते हो तो...
    टी-शर्ट पहन के घूमना शुरू कर दो!
  • तो क्या हुआ जो आजकल दोस्तों से मुलाकात नहीं होती;<br/>
मुलाकात तो रब से भी नहीं होती, इबादत कहाँ रुकी है जो दोस्ती रुकेगी!
    तो क्या हुआ जो आजकल दोस्तों से मुलाकात नहीं होती;
    मुलाकात तो रब से भी नहीं होती, इबादत कहाँ रुकी है जो दोस्ती रुकेगी!
  • सबको अपने अपने कर्मो का पता होता है,<br/>
`जनाब`... यूँ ही गंगा में भीड़ नहीं होती!
    सबको अपने अपने कर्मो का पता होता है,
    "जनाब"... यूँ ही गंगा में भीड़ नहीं होती!
  • पत्नी: चलो उठ जाओ, आठ बज चुके हैं!<br/>
पति: यार आज ना आँख ही नहीं खुल रही है, कुछ ऐसी बात सुनाओ, जिस से मेरी आँखें खुल जायें!<br/>
पत्नी: जिस से आप रात भर चैटिंग कर रहे थे, वो मेरी Fake Id थी!
    पत्नी: चलो उठ जाओ, आठ बज चुके हैं!
    पति: यार आज ना आँख ही नहीं खुल रही है, कुछ ऐसी बात सुनाओ, जिस से मेरी आँखें खुल जायें!
    पत्नी: जिस से आप रात भर चैटिंग कर रहे थे, वो मेरी Fake Id थी!