• घर के दरवाज़े पर घोड़े की नाल लगाने से सफलता नहीं मिलती!<br/>
सफलता के लिए खुद के दोनों पैरों में घोड़े की नाल लगानी पड़ती है!
    घर के दरवाज़े पर घोड़े की नाल लगाने से सफलता नहीं मिलती!
    सफलता के लिए खुद के दोनों पैरों में घोड़े की नाल लगानी पड़ती है!
  • एहसास के साथ आप जो कुछ भी यकीन करते हैं वही आपकी हकीक़त बन जाती है।
    एहसास के साथ आप जो कुछ भी यकीन करते हैं वही आपकी हकीक़त बन जाती है।
    ~ Brain Tracy
  • जिन्हें ख्वाब देखना अच्छा लगता है उन्हें रात छोटी लगती है;<br/>
और जिन्हें ख्वाब पूरे करना अच्छा लगता है उन्हें दिन छोटा लगता है।
    जिन्हें ख्वाब देखना अच्छा लगता है उन्हें रात छोटी लगती है;
    और जिन्हें ख्वाब पूरे करना अच्छा लगता है उन्हें दिन छोटा लगता है।
  • बुरा वक़्त तो आता जाता रहता है लेकिन हिम्मत और हौंसला एक बार गया तो वो वापस नहीं आता है! इसीलिये सदैव बुरे वक़्त से लड़ते रहें!
    बुरा वक़्त तो आता जाता रहता है लेकिन हिम्मत और हौंसला एक बार गया तो वो वापस नहीं आता है! इसीलिये सदैव बुरे वक़्त से लड़ते रहें!
  • कामयाब होने के लिए मेहनत पर यकीन करना होगा,<br/>
किस्मत तो जुए में आजमाई जाती है !
    कामयाब होने के लिए मेहनत पर यकीन करना होगा,
    किस्मत तो जुए में आजमाई जाती है !
  • बड़ी बड़ी बातें तो सब करते हैं,<br/>
लेकिन बड़ी बातों को पूरा करने का दम किसी किसी में ही होता है!
    बड़ी बड़ी बातें तो सब करते हैं,
    लेकिन बड़ी बातों को पूरा करने का दम किसी किसी में ही होता है!
  • भूतकाल के बारे में सोचोगे तो पछताओगे, वर्तमान के बारे में सोचोगे तो मुस्कराओगे!
    भूतकाल के बारे में सोचोगे तो पछताओगे, वर्तमान के बारे में सोचोगे तो मुस्कराओगे!
  • मेहनत सीढियों की तरह होती है और भाग्य लिफ्ट की तरह!<br/>
किसी समय लिफ्ट तो बंद हो सकती हैं लेकिन सीढियाँ हमेशा उँचाई की तरफ ले जाती हैं।
    मेहनत सीढियों की तरह होती है और भाग्य लिफ्ट की तरह!
    किसी समय लिफ्ट तो बंद हो सकती हैं लेकिन सीढियाँ हमेशा उँचाई की तरफ ले जाती हैं।
  • सीढियाँ उन्हें मुबारक हो जिन्हें सिर्फ छत तक जाना है;
    मेरी मंज़िल तो आसमान है रास्ता मुझे खुद बनाना है।
  • कर दिया है बेफिक्र तूने फ़िक्र अब मैं कैसे करूँ;<br/>
फ़िक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ।
    कर दिया है बेफिक्र तूने फ़िक्र अब मैं कैसे करूँ;
    फ़िक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ।