• अब शादियों में गाने कुछ ऐसे बजेंगे:<br/><br/>
लड़के वालों के लिए: `बहारो सैनेटाईजर छिड़काओ मेरा महबूब आया है!`<br/>

लड़की वालें के लिए: `बाबुल का सैनेटाईजर लेती जा, जा तुझको कोरोना मुक्त परिवार मिले!`
    अब शादियों में गाने कुछ ऐसे बजेंगे:

    लड़के वालों के लिए: "बहारो सैनेटाईजर छिड़काओ मेरा महबूब आया है!"
    लड़की वालें के लिए: "बाबुल का सैनेटाईजर लेती जा, जा तुझको कोरोना मुक्त परिवार मिले!"
  • आने वाले टाइम में किसी की शादी का कार्ड मिलना चुनाव में टिकट मिलने के बराबर होगा!
    आने वाले टाइम में किसी की शादी का कार्ड मिलना चुनाव में टिकट मिलने के बराबर होगा!
  • आज़ एक मैसेज मिला कि `सायक्लौन आ रहा हैं इसीलिये आपको घर पर ही रहना है और दूध, दवाईयां और अन्य आवश्यक चीजों को स्टॉक कर लेना है।<br/>
सालों, पहले ही 2 महीने से घर के अंदर हूँ! अब क्या ज़मीन में गड्डा खोद लूँ!
    आज़ एक मैसेज मिला कि "सायक्लौन आ रहा हैं इसीलिये आपको घर पर ही रहना है और दूध, दवाईयां और अन्य आवश्यक चीजों को स्टॉक कर लेना है।
    सालों, पहले ही 2 महीने से घर के अंदर हूँ! अब क्या ज़मीन में गड्डा खोद लूँ!
  • जब गुण को गाहक मिले, तब गुण लाख बिकाई।<br/>
जब गुण को गाहक नहीं, तब कौड़ी बदले जाई।<br/><br/>

अर्थ: कबीर कहते हैं कि जब गुण को परखने वाला ग्राहक मिल जाता है तो गुण की कीमत होती है। पर जब ऐसा ग्राहक नहीं मिलता, तब गुण कौड़ी के भाव चला जाता है॥<br/>
कबीर दास जयंती की शुभ कामनायें!
    जब गुण को गाहक मिले, तब गुण लाख बिकाई।
    जब गुण को गाहक नहीं, तब कौड़ी बदले जाई।

    अर्थ: कबीर कहते हैं कि जब गुण को परखने वाला ग्राहक मिल जाता है तो गुण की कीमत होती है। पर जब ऐसा ग्राहक नहीं मिलता, तब गुण कौड़ी के भाव चला जाता है॥
    कबीर दास जयंती की शुभ कामनायें!
  • सादगी का ज्ञान सभी देते हैं पर मरते सब चेहरे पर ही हैं!
    सादगी का ज्ञान सभी देते हैं पर मरते सब चेहरे पर ही हैं!
  • एक सवाल था कि...<br/>
संतूर के साबुन से हाथ धोने से कोरोना कहीं ज़्यादा जवान तो नहीं हो जायेगा!
    एक सवाल था कि...
    संतूर के साबुन से हाथ धोने से कोरोना कहीं ज़्यादा जवान तो नहीं हो जायेगा!
  • इश्क़ और कोरोना दोनों एक ही चीज़ है साहब;<br/>
जब तक खुद को ना हो जाये मज़ाक ही लगता है!
    इश्क़ और कोरोना दोनों एक ही चीज़ है साहब;
    जब तक खुद को ना हो जाये मज़ाक ही लगता है!
  • भरे बाज़ार देखो तो लगता है कोरोना दुनिया में आया ही नहीं और...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
न्यूज़ चैनल देखो तो लगता है अब कोई जिंदा बचेगा ही नहीं!
    भरे बाज़ार देखो तो लगता है कोरोना दुनिया में आया ही नहीं और...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    न्यूज़ चैनल देखो तो लगता है अब कोई जिंदा बचेगा ही नहीं!
  • दुनिया में तीन तरह के लोग होते हैं<br/>

1. पॉजिटिव<br/>
2. निगेटिव<br/>
3. रिलेटिव<br/>

तीसरे नंबर वाले ऊपर वाले दोनों का खेल खत्म कर देते हैं!
    दुनिया में तीन तरह के लोग होते हैं
    1. पॉजिटिव
    2. निगेटिव
    3. रिलेटिव
    तीसरे नंबर वाले ऊपर वाले दोनों का खेल खत्म कर देते हैं!
  • आपके पास बैंक बैलेंस और राशन हैं तो कोरोना का डर है अगर दोनों खत्म हैं तो कोरोना का डर भी खत्म है!
    आपके पास बैंक बैलेंस और राशन हैं तो कोरोना का डर है अगर दोनों खत्म हैं तो कोरोना का डर भी खत्म है!