• लालू से चीटिंग!

    एक बार इंद्रदेव ने पृथ्वीलोक के तीन नेताओ को सही उत्तर बताने पर स्वर्ग जाने का न्योता भेजा। जिसमें तीन नेता चुने गए।
    1. सोनिया गाँधी
    2. नरेन्द्र मोदी
    3. लालू प्रसाद यादव

    इंद्रदेव का पहला सवाल - सोनिया से- RAT की स्पेलिंग बताओ।
    सोनिया: R. A. T

    मोदी से- CAT की स्पेलिंग।
    मोदी: C. A. T

    लालू जी से - चकोस्लोवाकिया की स्पेलिंग।
    लालू: धत बुर्बक इ सबसे चुहा, बिल्ली। आ हमरा से चकोस्लोवाकिया। ई सब नए होगा फेर से पुछिये।

    तब इंद्र देव बोले ठीक है अगला सवाल।
    सोनिया से- यह एक लडका है का अंग्रेजी बताओ।
    सोनिया: This is a boy.

    मोदी से- वह एक लडकी है का अंग्रेजी बनाओ।
    मोदी: That is a girl.

    लालू से- हरा पेड़ चर्रर्रर्र से गिर गया का अंग्रेजी बनाओ।
    लालू: ई का उ सबसे लड़का लड़की आ हमरा से चर्रर्र पर्रर्र। फेर से फेर से नै नै फेर से, फेर से होगा।

    तब इंद्रदेव बोले लालू जी आप तो बच्चो की तरह जिद कर रहे हैं। ये आखिरी मौका दे रहा हूँ बस।
    सोनिया से- जलियावाला बाग हत्याकांड कब हुआ था?
    सोनिया: 1919 ई.मे।

    ठीक है स्वर्ग मे जाओ।

    मोदी से- उस हत्याकांड मे कितने लोग मरे थे?
    मोदी: यही कोई दस हजार लोग।

    ठीक है स्वर्ग मे जाओ।

    लालू से- उन दस हजार के नाम बताओ।

    लालू - अरे साफ़ साफ़ बोलिए न जी की हमको नरक भेजने का प्रोगराम फिट करके बैठल है। बोलिए नरक किधर है?
  • पप्पू की मुसीबत!

    गर्लफ्रेंड: आई लव यू बेबी।
    पप्पू धीरे से बोला, `मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ।`

    गर्लफ्रेंड: ऐसा क्यों?
    पप्पू: बस थोड़ा सा मूड़ ख़राब था।

    गर्लफ्रेंड: दोस्तों के साथ तो बड़े खुश रहते हो, मेरे साथ ही ड्रामे।
    पप्पू (प्यार से): ऐसा कुछ नहीं जानू, तबियत थोड़ी नहीं ठीक है।

    गर्लफ्रेंड: हाँ, दोस्त अभी फोन कर देगा तो 2 सेकंड में तबियत ठीक हो जायेगी।
    पप्पू: दोस्त कहाँ से आये, मेरा मूड़ थोड़ा परेशान है बस।

    गर्लफ्रेंड: मेरे साथ ही ये सब होता है, दोस्तों के साथ मज़े करते हो, या कोई और लड़की पसंद आ गई?
    पप्पू और ज्यादा प्यार से, `अरे, कहाँ से कहाँ बात ले जा रही हो?`

    गर्लफ्रेंड: आज सब साफ़-साफ़ होगा।
    पप्पू: क्या साफ़ करना है जानू, ऐसा क्या हो गया है?

    गर्लफ्रेंड (खुद कंफ्यूज): जब तुम खुद साफ़ नहीं, तुम्हें कुछ पता नहीं तो मैं क्या बोलूं।
    पप्पू समझदार बनने की नक़ल करते हुए, `तुम्हे क्या हुआ है, किस बात पर परेशान हो, बताओ?`

    गर्लफ्रेंड: तुम्हारी संगत खराब है।
    पप्पू: मेरे साथ तो तुम हो।

    गर्लफ्रेंड: अब बहुत हो गया, अब और नहीं।
    पप्पू (चिल्लाते हुए): हुआ क्या है, ये तो बताओ?

    गर्लफ्रेंड: हम अब साथ नहीं रह सकते।
    पप्पू: ये बात कहाँ से आई?

    गर्लफ्रेंड: मैं इसे तोड़ना चाहती हूँ।
    पप्पू (चिढ़कर): हमसे, ठीक है।

    गर्लफ्रेंड (गुस्सा होते हुए): हाँ, यही चाहते हो तुम तो, फिर तुम जो मर्ज़ी कर सको।
    पप्पू: अरे खुद ही बोला अभी, मैंने क्या गलत कहा?

    गर्लफ्रेंड: इतनी तकलीफ़ थी तो बोला, क्यों नहीं, मैं खुद बिना बोले चली जाती तुम्हारी जिन्दगी से।
    पप्पू अपने बाल पकड़कर, `मुझे मेरी गलती तो बता दो?`

    गर्लफ्रेंड: वक़्त आने पर पता चलेगी तुम्हें अपने आप, जब मैं चली जाऊँगी (कभी नहीं जायेगी)।
    पप्पू: अच्छा, तो मैं इंतज़ार करता हूँ, सही वक़्त का।

    गर्लफ्रेंड: तुम सिरियस कब हो गए?
    पप्पू: अब क्या हॉस्पिटल में भर्ती हो जाऊं सिरियस होने के लिए।

    गर्लफ्रेंड: भाड़ में जाओ।
    पप्पू: दोबारा मुझे फोन मत करना।

    3 घंटे बाद
    गर्लफ्रेंड: तुम्हें पता है न, मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती जानू, सॉरी आई लव यू मेरे बेबी।
    पप्पू (सब भूलकर): अच्छा फिर, मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ।

    गर्लफ्रेंड: इतनी उदास आवाज में क्यों?
  • बढ़ती प्याज की कीमतों के हिसाब फिल्मों के डायलॉग्स!

    बढ़ती प्याज की कीमतों के हिसाब से जल्दी ही फिल्मों के डायलॉग्स इस प्रकार के होंगे।

    मेरे करण अर्जुन आयेंगे... और दो किलो प्याज़ लायेंगे।

    ये ढाई किलो के प्याज़ जब आदमी लेता है ना तो आदमी उठता नहीं उठ जाता है।

    मेरे पास बंगला है गाड़ी है बैंक बैलेंस है पैसा है, तुम्हारे पास क्या है?
    मेरे पास प्याज़ है।

    जिनके घर प्याज़ के सलाद होते हैं वो बत्ती बुझा कर खाना खाते हैं।

    चिनॉय सेठ, प्याज़ बच्चों के खेलने की चीज़ नहीं होती कट जाए तो खून निकल आता है।

    मैं आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता प्याज़ हो तो अलग बात है।

    सारा शहर मुझे प्याज़ के नाम से जानता है।

    प्याज़ को खरीदना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है।

    आपके प्याज देखे, बहुत हसीन हैं, इन्हें ज़मीन पे मत उतारियेगा मैले हो जायेंगे।

    चल धन्नो, आज दस किलो प्याज़ का सवाल है।
  • तीन इच्छाएं!

    एक महिला का पति बहुत शराबी था वह उसे बहुत प्रताड़ित करता था और उसके किसी दूसरी औरत के साथ अवैध सम्बन्ध भी थे वह महिला उससे काफी दु:खी थी!

    आखिर एक दिन उस महिला ने अपने पति से तलाक ले लिया उसे अपने पति से बहुत नफरत हो गई वह अपने पति से अलग रहने लगी!

    एक दिन रास्ते में उसे एक पुराना सा दीपक मिला महिला ने उसे उठाकर रगड़ा तो उसमें से एक जिन्न प्रकट हुआ जिन्न ने महिला से कहा कि वह कोई भी तीन वरदान मांग सकती है परन्तु जो वह मांगेगी उसका दुगुना उसके पति को मिलेगा!

    महिला ने पहला वरदान मांगा मैं अमीर हो जाऊं!

    वह अमीर हो गई साथ ही उसका पति उससे दुगुना अमीर हो गया!

    महिला ने दूसरा वरदान मांगा मुझे खूबसूरत बना दो!

    वह खूबसूरत हो गई लेकिन उसका पति उससे दुगुना खूबसूरत हो गया!

    जिन्न जानता था कि यह महिला अपने पति से नफरत करती है, इसलिये तीसरा वरदान मांगने से पहले उसने उसे टोका देखो, अब यह तुम्हारी तीसरी और आखिरी इच्छा है जिसे मैं पूरी करूंगा इसलिये सोच समझकर मांगना!

    महिला ने गंभीरतापूर्वक सोचा और अंत में इस निर्णय पर पहुंची .....मैं चाहती हूं कि तुम मुझे अधमरी कर दो!