• बाप, बाप होता है!

    एक लड़की अपने पिता के साथ बरामदे में बैठी थी, तभी वहाँ उसका बॉयफ्रेंड आ गया।

    लड़की अपने बॉयफ्रेंड से, "क्या आप रामपाल यादव की किताब 'Dad is at home' लेने हो?

    बॉयफ्रेंड: नहीं मैं तो कीमती आनंद की 'Where should I wait for you' किताब लेने आया हूँ।

    लड़की: नहीं मेरे पास तो प्रेम बाजपेयी की 'Under the mango tree' है।

    बॉयफ्रेंड: ठीक है तुम आते समय आनंद बक्शी की 'Call you in five minutes' लेती आना।

    लड़की: OK मैं जॉन अब्राहम की 'I won't let you down' जरूर लेती आउंगी।

    लड़का लड़की के पिता के चरण स्पर्श करके चला गया तो लड़की का पिता जो उन दोनों की बातों को ध्यान से सुन रहा था बोला, "बेटी ये लड़का इतनी ढ़ेर सारी किताबें पढ़ कैसे लेता है?

    लड़की: पिता जी ये हमारी क्लास का सबसे समझदार और Intelligent लड़का है।

    बाप: तो बेटी इसको कहना एक बार गुलशन चावला की 'Old men are not stupid' भी पढ़ ले।
  • पत्नियों की माया!

    अलग-अलग महिलाएं अपने पतियों से लड़ रही थी।

    पायलट की पत्नी: ज्यादा उड़ो मत समझे।

    मास्टर की पत्नी: मुझे मत सिखाओ ये आपका स्कूल नहीं।

    डेंटिस्ट की पत्नी: दांत तोड़ के हाथ में दे दूंगी।

    डॉक्टर की पत्नी: तबियत दुरुस्त कर दूंगी।

    MBA की पत्नी: अपने काम से काम रखो।

    इंजीनियर की पत्नी: ज्यादा करंट मत मारो।

    चार्टर्ड अकाउंटेंट की पत्नी: पहले पास तो हो लो, फिर बात करना बुड्ढे।
  • बीवी का ख़ौफ़!

    गाँव में रात को भजन का प्रोग्राम था, शर्मा जी की बहुत इच्छा थी जाने की पर पत्नी ने मना कर दिया।

    "तुम रात को बहुत देर से आओगे, मैं कब तक जागूँगी?"

    ग्यारह बजे वापस आने का बोल के शर्मा जी चले गये। भजन संध्या में ऐसे डूब गये कि समय का ध्यान ही नहीं रहा। घड़ी में एक बजे का समय देख शर्मा जी की हालत ख़राब हो गयी। चप्पल हाथ में लिए दौड़ने लगे और हर-हर महादेव बोलने लगे।

    भजन संध्या में आलोकिक माहौल था तो शिवजी भी वहीं थे। वो शर्मा जी की सहायता के लिये आये और बोले, "बोल भक्त क्या परेशानी है?"

    शर्मा जी: आप मेरे साथ मेरे घर तक चलो, मैं दरवाज़ा खटखटाऊँ तो आप आगे आकर संभाल लेना। मेरी बीवी आज मुझे छोड़ेगी नहीं।

    शिवजी: वत्स तेरी पत्नी तुझे क्यों मारेगी?

    शर्मा जी: प्रभु मैं बीवी को ग्यारह बजे आने का कह के आया था।

    शिवजी: तो अभी कितने बजे हैं?

    शर्मा जी: प्रभु डेढ़ बजे हैं।

    डेढ़ सुनते ही शिवजी भी भागने लगे।

    शर्मा जी: प्रभु क्या हुआ?

    शिवजी दौड़ते-दौड़ते बोले, "मैं ख़ुद साढ़े बारह बजे का बोल के आया था।"

    पत्नी मतलब पत्नी चाहे किसी की भी हो!
  • फौजी की दावत!

    एक बार एक फौजी अफसर की शादी हुई तो उसने अपने बटालियन के सभी जवानों को शादी की दावत पर बुलाया।

    खाना टेबल पर लगाकर सब जवानों को फौजी अँदाज मे कहा, "मेरे शेरो इस खाने को दुशमन समझकर इसके उपर टूट पड़ो।"

    थोड़ी देर में फौजी अफसर क्या देखता है कि एक जाट एक हाथ से लड्डू - जलेबी खा रहा है और एक हाथ से लड्डू - जलेबी जेब मे ठूस रहा है।

    अफसर: जवान यह क्या हो रहा है?

    जाट: साहब जितने मारने थे उतने मार दिये बाकियों को बंदी बना रहा हूँ।