• घंटे का राज!

    शादी के बाद हनीमून पर गोवा गये जोड़े ने वहाँ दिन भर घूम फिर कर बिताया, शाम को होटल के कमरे मे बैठकर दोनों ने तय किया कि रात भर चर्च के बजने वाले हर घंटे पर वो अपना हनीमून मनाएंगे..

    9 बजे घंटा बजा, जोश के साथ खेल शुरू !

    10 बजे का घंटा बजा फिर कार्यक्रम !

    फिर 11 बजे,

    फिर 12 बजे,

    .
    .
    .
    .
    .
    पतिदेव की हालत पस्त

    चुपचाप सिगरेट पीने के बहाने 12:30 पर निकले,

    और चर्च पहुचकर घंटा बजाने वाले चपरासी से बोले-- भाई, ये 500 रूपए पकड़​, और अब घंटा, हर दो घंटे के बाद बजाना!

    चपरासी बोला -- ये नहीं हो सकता साहब!

    कल शाम को ही आपकी मैडम हर आधे घंटे पर घंटा बजाने की एवज में 2000 रूपए दे गयी हैं...!!
  • शराब का खेल!

    एक साहब सुबह ऑफिस जाने के लिए बस में सवार हुए तो कन्डक्टर ने सवाल किया रात ठीक-ठाक घर पहुंच गए थे!

    क्यों? उसने हैरानी से पूछा, मुझे क्या हुआ था रात को?

    कन्डक्टर ने जवाब दिया आप शराब पीकर टुन्न थे!

    तुम्हें कैसे पता चला? मैंने तो तुम से बात तक नहीं की थी!

    आप जब बस में बैठे हुए थे तो एक मैडम बस में चढ़ी थीं, जिन्हें आपने उठकर अपनी सीट ऑफर की थी!

    तो?

    तब बस में आप दो ही पैसेन्जर थे साहब!
  • नसबंदी और शिक्षा!

    एक गाँव में जिलाधिकारी नसबंदी के महत्तव के बारे में भाषण दे रहा था! भाषण के बाद उसने कहा कि अगर कोई सवाल पूछना चाहे तो पूछ सकता है!

    एक ग्राम सेवक खडा हुआ और बोला, "गाँव वाले पूछते हैं कि क्या आपने खुद नसबंदी कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा: नहीं मैंने नसबंदी नहीं कराई है!

    ग्राम सेवक ने पूछा, "क्या कमिश्नर ने नसबंदी कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा, "जहाँ तक मुझे जानकारी है कमिश्नर ने भी नसबंदी नहीं कराई है!"

    ग्राम सेवक ने फिर पूछा, "क्या मंत्रालय के सचिव ने कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा, "मैं तुम्हारा सवाल समझ गया... देखो हम सब पढ़े - लिखे लोग हैं... हम बिना नसबंदी कराए ही परिवार नियोजन करते हैं!"

    ग्राम सेवक: तो मादरचोद, हमें भी पढ़ाओ लिखाओ, हमारे लण्ड के पीछे क्यों पड़े हो?
  • शराबी दोस्त!

    दो शादीशुदा दोस्त एक रात को इकट्ठे बैठकर शराब पी रहे थे तब पहले दोस्त ने दूसरे से कहा, तुम जानते हो मुझे पता ही नहीं चलता की मैं क्या करूँ?

    जब भी मैं पीकर घर जाता हूँ तो मैं रास्ते में ही गाड़ी की हेडलाईट बन्द कर देता हूँ, मैं इंजन को बंद करके गाड़ी को गैराज में लगाता हूँ, फिर मैं घर में अंदर जाने से पहले जूते उतार देता हूँ मैं चुपके से सीढ़ियाँ चढ़ता हूँ, मैं बाथरूम जाकर अपने कपड़े बदलता हूँ, जैसे ही मैं आराम करने के लिए बिस्तर पर सोने जाता हूँ तो मेरी बीवी जाग रही होती है, और मुझे चिल्ला कर कहती है इतनी देर से आये हो बाहर चले जाओ!

    उसके दोस्त ने उसे देखा ओर उसे कहा तुमने सच में गलत तरीका अपनाया है, देखो मैं चिल्लाते हुए गाड़ी चलाता हूँ, दरवाजे को जोर से धक्का देकर खोलता हूँ, जोर जोर से चलता हूँ, अपने जूतों को अलमारी मैं फेंक देता हूँ, कपड़े उतार देता हूँ, बिस्तर पर कूद जाता हूँ, और अपनी पत्नी को पकड़ कर कहता हूँ फिर ..?? ओर वो बहाना करती है जैसे सो गयी हो!