• इतने कम नंबर!

    काम पर से थक हार कर घर आया, सोफे पर बैठ गया। पत्नी ने पानी का गिलास दिया और बच्चे ने मार्कशीट सामने रखी।

    हिंदी 44
    अंग्रेजी 35
    गणित 37

    आगे कुछ पढ़ने से पहले... "बेटा ! क्या मार्क है ये ? गधे, शर्म नहीं आती तुझे ? नालायक है तू नालायक..."

    पत्नी: अरे आप सुनो तो?

    "तू चुप बैठ! तेरे लाड़ प्यार ने ही बिगाड़ा है इसे. नालायक,अरे बाप दिनभर मेहनत करता है और तू ऐसे मार्क लाता है।"

    लड़का चुपचाप गर्दन नीचे।

    "अरे सुनो... तो!"

    "तू चुप कर, एक शब्द भी मत बोल. आज इसको बताता हूँ।"

    "अरे!"

    पत्नी का आवाज बढ़ गयी, मैं थोडा रुक गया।"

    "सुन तो लो जरा!"

    "सुबह अलमारी साफ करते समय मिली आपकी ही मार्कशीट है वो..."

    भयानक सन्नाटा!
  • कवित्री की सुहागरात!

    एक कवित्री की सुहागरात के बाद उसकी सहेली ने जब पूछा कि कैसी रही उसकी सुहागरात तो कवित्री ने अपने अंदाज़ में कुछ यूँ दिया जवाब:

    आये थे वो ज़रा देर से, दिल जला दिया;
    पहले किया उन्होंने दरवाज़ा बंद और फिर दीपक बुझा दिया;
    पहले दबाई चूचियाँ उन्होंने टटोलकर,
    फिर खेलने लगे मेरी चूत से चड्डी खोल कर;
    एक जंग ऐसी छिड़ी पलंग पर,
    फिर तैयार कर गोले वाली तोप अपनी दाग दी उन्होंने मेरी सुरंग पर;
    करते रहे हमला लगातार वो, आने लगा मुझे भी अजीब सा मज़ा;
    इसी मज़े में छाया कुछ ऐसा नशा कि भूल गयी मैं इसके बाद की सजा;
    कुछ यूँ गुज़री सुहागरात मेरी कि पूरी हो गयी मेरे मन की हर एक रज़ा।
  • नसबंदी की दास्ताँ!

    एक गाँव में जिलाधिकारी नसबंदी के महत्व के बारे में भाषण दे रहा था। भाषण के बाद उसने कहा कि अगर कोई सवाल पूछना चाहे तो पूछ सकता है।

    एक ग्राम सेवक खडा हुआ और बोला, "गाँव वाले पूछते हैं कि क्या आपने खुद नसबंदी कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा, "नहीं मैंने नसबंदी नहीं कराई है।"

    ग्राम सेवक ने पूछा, "क्या कमिश्नर ने नसबंदी कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा, "जहाँ तक मुझे जानकारी है कमिश्नर ने भी नसबंदी नहीं कराई है।"

    ग्राम सेवक ने फिर पूछा, "क्या मंत्रालय के सचिव ने कराई है?"

    जिलाधिकारी ने कहा, "मैं तुम्हारा सवाल समझ गया... देखो हम सब पढ़े-लिखे लोग हैं। हम बिना नसबंदी कराए ही परिवार नियोजन करते हैं।"

    ग्राम सेवक ने कहा, "तो मादरचोद, हमें भी पढ़ाओ लिखाओ, हमारे लण्ड के पीछे क्यों पड़े हो?"
  • फंस गया बेचारा!

    मगनलाल ने एक कॉल सेंटर में काम करने वाली लड़की रूबी से शादी कर ली। सुहागरात को मगनलाल अपना लौड़ा टाइट कर के आया। उसे उम्मीद थी कि रूबी अपनी चूत सहलाती हुई बैठी होगी। लेकिन रूबी बिल्कुल मरे हुए कुत्ते की तरह बिस्तर पर पसरी हुई थी।

    मगनलाल: मादरचोद, ये क्या हाल बना रखा है? देखती नहीं मैं हूँ मैं।

    रूबी: नमस्कार, बिस्तर पर आपका स्वागत है। अंग्रेज़ी स्टाइल में चुदाई करने के लिए बाईं चूची दबाएँ। हिन्दी स्टाइल में चुदाई करने के लिए दाईं चूची दबाएँ।

    मगनलाल: ये क्या मज़ाक है साली रंडी की औलाद?

    रूबी: चूत संबंधी जानकारी, जैसे टाइट चूत या फटी चूत के बारे में जानने के लिए अंगुली डालें। लौड़ा ठीक से काम नहीं कर रहा है जैसी किसी जानकारी के लिए अपना लंड मुँह में डालें। गाँड़ मारने के लिए गाँड़ में अंगुली डालें और अपनी झांटें खींचकर तीन बार अंगुली अंदर घुसाएँ।

    मगनलाल: बहन की लौड़ी, तेरी माँ की चूत, तुझे चोदने के लिए आया हूँ।

    रूबी: मुझे चोदने के लिए ग्राहक सेवा एक्ज़ीक्यूटिव से बात करें।

    मगनलाल (लगभग रोते हुए): भाड़ में गई ऐसी चूत। मादरचोद किस मनहूस से शादी कर ली।

    रूबी: कृपया लाइन पर बने रहें। आपका लंड कतार में है। हमारे आंतरिक प्रशिक्षण व प्रयोजन के लिए आपकी इस हरकत को रिकॉर्ड किया जा सकता है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT